छत्तीसगढ़

सराफा व्यापारी को लूटने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, 4 सदस्य गिरफ्तार, दो फरार

Shantanu Roy
19 Aug 2021 12:05 PM GMT
सराफा व्यापारी को लूटने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, 4 सदस्य गिरफ्तार, दो फरार
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। जगदलपुर। आज से एक माह पहले शहर के वृंदावन कॉलोनी में कुछ नकाबपोश युवकों के द्वारा एक सराफा व्यापारी को गोली मारते हुए उसके पास से नगदी पैसों के साथ ही सोने के आभूषण छीनकर फरार हो गए थे, जिसके बाद पुलिस की कई टीमों ने अलग-अलग जांच करते हुए एक माह के बाद अंतरारज्यीय गिरोह के 4 आरोपियों को पकडऩे में सफलता हासिल कर लिया है। आरोपियों से घटना में उपयोग 2 मोटर सायकिल व 1 पिस्टल, 470 ग्राम सोने के आभूषण कीमत 25 लाख रूपये को जब्त किया गया है।

आज बस्तर पुलिस अधीक्षक जितेंद्र मीणा ने पत्रकार वार्ता लेते हुए बताया कि 18 जुलाई को सराफा व्यापारी त्रिलोकचंद सिसोदिया रात 8 बजे संजय मार्केट में अपनी ज्वेलरी शॉप बंद करके ज्वेलरी अपनी स्कूटी की डिक्की में रखकर सहकर्मी के साथ अपने घर की ओर जा रहे थे कि उनके घर के कुछ दूर पहले ही अज्ञात आरोपियों द्वारा उनके ऊपर फायर करते हुए उन्हें घायल कर स्कूटी की डिक्की में रखे हुए सोने के जेवरात लगभग 500 ग्राम से अधिक लूट कर फरार हो गये थे। पुलिस अधीक्षक द्वारा घटना स्थल जाकर व प्रार्थी से पूछताछ के बाद अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए एक टीम बनाई, घटना की गंभीरता को देखते हुए तत्काल 6 टीमों का गठन किया गया, संदिग्ध आरोपियों की पतासाजी के लिए घटना स्थल से लेकर जगदलपुर शहर से लेकर उडीसा राज्य की सीमा तक लगभग 200 सी.सी.टी.व्ही. फुटेज तथा लाखों सेल मुव्हमेंट का जांच सीसीटीवी फुटेज टीम व सायबर एक्पर्ट द्वारा किया गया है।
प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए बस्तर रेंज आईजी सुंदरराज पी. ने 10 सदस्यीय एस.आई.टी टीम का गठन करते हुए अज्ञात आरोपियों के संबंध में जानकारी देने पर 30 हजार रूपये की ईनाम की घोषणा की थी। ओडिशा, आन्ध्रप्रदेश व तेलंगाना में टीमों को भेजकर कैम्प कराकर अज्ञात आरोपियों के संबध में उनकी आपराधिक प्रकरण के आधार पर इस तरह की घटना कारित करने वाले अपराधियों के गैंग के संबंध में जानकारी ली गई।
घटना को कुल 6 आरोपियों ने 3 मोटर सायकलों में आकर अंजाम दिया है। सी.सी.टी.व्ही. फुटेज से अज्ञात आरोपियों के कद-काठी व हुलिया के आधार पर ओडिशा में कैम्प कर रही टीम ने स्थानीय सम्पर्कों के माध्यम से उनमें से 1 की पहचान आर. रवि निवासी आस्का जिला गंजाम ओडिशा के रूप में की। सूचनाओं के आधार पर टीमों द्वारा लगातार ओडिशा, आन्ध्रप्रदेश व तेलंगाना के आर.रवि. और उसके गैंग के सदस्यों के रूकने के ठिकानों पर लगातार दबिश दी जा रही थी। गैंग के रूकने व छुपने के स्थानों पर मुखबिरों को सक्रिय किया जा कर उनकी भी मदद ली जा रही थी। इसी क्रम में यह जानकारी प्राप्त हुई कि सरहदी राज्य ओडिशा के ग्राम चांदली में आर.रवि व उसके गैंग के अन्य सदस्यों का मूव्हमेंट है।



इस महत्वपूर्ण सूचना पर तत्काल पुलिस टीम द्वारा चांदली के आर. रवि के ठिकाने पर दबिश दी गई, जहां पर आर. रवि और उनके टीम के अन्य 3 सदस्य शिबा राव, पी. रवि कुमार, राज कुमार दास को मौके पर ही पकड़ा गया। पूछताछ पर आर. रवि ने यह बताया कि सराफा व्यापारी के साथ घटना को उनके गैंग के ही सदस्य शिबा राव, पी. रवि कुमार, राज कुमार दास तथा अन्य 2 लोगों द्वारा मिलकर किया गया था। घटना करने के उपरांत वो सीधा ग्राम चांदली के अपने किराये के घर में आकर लूटे गये आभूषण व पिस्टल को वही डंप कर दिये थे तथा तत्काल वहां से निकल गये थे कि पुलिस की नाकाबंदी में पकड़ में न आ जाएं और यह सोचकर कुछ समय बीत जाने व पुलिस की गतिविधि सामान्य होने पर यहां आकर लूटे गये जेवरात का बंटवारा कर लेंगे, इसलिए सभी आरोपी आये थे।
आरोपियों के कब्जे से घटना में उपयोग 2 मोटर सायकिल व 1 पिस्टल जिसे आरोपी शिबा उर्फ तूफान ने मुंगेर बिहार से खरीद कर लाना बताया है, पुलिस ने 470 ग्राम सोने के आभूषण कीमत 25 लाख रूपये का जब्त किया गया है। फरार 2 आरोपियों के संबंध में जानकारी एकत्र की जा रही है। गिरफ्तार किये गये आरोपियों का मूवमेंट तेलंगाना, आन्ध्रप्रदेश, झारखंड, बिहार, प.बंगाल व छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में देखा गया है। उन राज्यों में भी इस गैंग के द्वारा कारित इस आपराधिक कार्यप्रणाली के अपराधों के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है। आरोपियों को थाना बोधघाट के धारा 341,307,394,397,34 भादवि 25,27 आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया। इस लूट की वारदात में अंतरराज्यीय आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने पर पुलिस महानिरीक्षक सुन्दराज पी. ने टीम को बधाई देते हुए उन्हे पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta