छत्तीसगढ़

हैकमंथन: इंजीनियरिंग छात्र के माडल को मिला पहला पुरस्कार

Janta Se Rishta Admin
30 Jun 2022 7:36 AM GMT
हैकमंथन:  इंजीनियरिंग छात्र के माडल को मिला पहला पुरस्कार
x

रायपुर। थर्ड आई की नजर अब चोरी की गाड़ियों और बच्चों पर होगी। यह देखते ही न सिर्फ पुलिस को मैसेज देगी, बल्कि चोर कहां-कहां से गुजर रहे हैं, इसकी जानकारी भी मिलेगी। उसे ट्रैकिंग सिस्टम से निकाल सकेंगे। आइआइआइटी नवा रायपुर के हैकमंथन में इंजीनियरिंग छात्र कार्तिक बागरी के थर्ड आई बेस्ड डीप लर्सिंग माडल को पहला पुरस्कार (80 हजार रुपये व प्रमाण पत्र) मिला है। नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय दिल्ली में द्वितीय वर्ष के छात्र कार्तिक बागरी ने नईदुनिया से बातचीत में बताया कि गाड़ियों और बच्चों की चोरी की समस्या को देखते हुए उन्होंने सिस्टम तैयार किया। इसमें चौक-चौराहों पर लगे सीसीटीवी में डीप लर्सिंग बेस्ड सिस्टम को जोड़ा जाएगा, जो गाड़ियों के नंबर, चोर व चोरी हुए बच्चों का चेहरा भी स्कैन कर अपने डेटा में रखेगा।

पुलिस में शिकायत की स्थिति में सिस्टम में जानकारी डालने पर चोरी हुई गाड़ी, चोर व बच्चे कहां-कहां से गुजरे हैं, इसकी जानकारी दे देगा। यदि चोरी हुई गाड़ियां व चोर कहीं से गुजरते हैं तो पुलिस को मैसेज के माध्यम से अलर्ट कर देगा। कार्तिक ने बताया कि थर्ड आई बेस्ड डीप लर्सिंग माडल को दो सप्ताह में तैयार किया गया है। इसमें उनके सहयोगी रिनव गुप्ता व वेदांश अरुण रहे हैं, जो उनके सहपाठी हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta