छत्तीसगढ़

सहारा इंडिया के दो संचालक सहित चार को जेल

Shantanu Roy
13 May 2022 3:48 PM GMT
सहारा इंडिया के दो संचालक सहित चार को जेल
x
छग

राजनांदगांव। परिवक्वता अवधि पूरी होने के बाद भी निवेशकों को जमा रकम वापस नहीं करने के मामले में पुलिस ने सहारा इंडिया कंपनी के दो संचालकों व दो सहायकों समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को उन्हें पुलिस रिमांड पर जेल भेज दिया गया। पुलिस के अनुसार पूछताछ के आधार पर इस मामले में कई ओैर की गिरफ्तारी हो सकती है। चिटफंड कंपनियों के खिलाफ जारी कार्रवाई के बीच सहारा इंडिया जैसी किसी बड़ी वित्तीय कंपनी के खिलाफ यह बड़ी कार्रवाई है।

निवेशकों की जमा रकम वापस नहीं करने पर खुद अभिकर्ताओं ने सहारा इंडिया के संचालकों के खिलाफ अपराध दर्ज कराया था। 26 नवंबर 2021 को कोतवाली पुलिस ने सहारा की चार शाखा कंपनियों सहारा क्रेडिट सहकारी समिति मर्यादित, सहारा सेंट्रल, क्यू-शाप प्रोडक्ट रेंज लिमिडेट व सहारा मल्टी स्टेट कंपनी के संचालकों के खिलाफ भादंवि की धारा 409 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था। सभी कंपनियों का मुख्यालय लखनऊ ही है। तीन दिन पहले जिला पुलिस की विशेष टीम लखनऊ भेजी गई थी।
इनकी की गई गिरफ्तारी
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस. महादेवा के अनुसार सहारा मुख्यालय लखनऊ से सहारा के संचालक सिटी प्लाजा लखनऊ निवासी मो. आलिद, पेपर मिल कालोनी लखनऊ निवासी शैलेष मोहन, उनके सहायकों में राजाजीपुरम लखनऊ निवासी प्रदीप कुमार व अलीगढ़ निवासी लालजी वर्मा को गिरफ्तार किया गया है। दोपहर बाद सभी को कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस रिमांड पर उन्हें जेल भेज दिया गया। एएसपी ने बताया कि पूछताछ के आधार पर कुछ अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।
यह है पूरा मामला
चिटफंड कंपनियों में आम लोगों के अरबों रुपये फंसे हुए हैं। कानूनी कार्रवाई के साथ ही कंपनियों की संपत्तियांं नीलाम कर निवेशकों की राशि लौटाई जा रही है। इस बीच सहारा इंडिया से जुड़े अभिकर्ताओं व निवेशकों ने लगातार प्रदर्शन आंदोलन किया था। राज्यपाल व मुख्यमंत्री से भी शिकायत की गई थी। उग्र आंदोलन के बाद चार संचालकों के खिलाफ अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया गया था।
उनके खिलाफ शिकायत है कि कंपनी ने अलग-अलग योजनाओं के नाम पर निवेशकों के अरबों रुपये जमा तो करा लिया, लेकिन परिपक्वता अवधि पूरी होने के बाद भी राशि नहीं लौटाई जा रही। एफआईआर के बाद संचालकों को नोटिस भेजा गया था, लेकिन वहां से संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर पुलिस ने गिरफ्तारी की कार्रवाई की।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta