छत्तीसगढ़

पति-पत्नी की हत्या का खुलासा: प्लानिंग के साथ घटना को अंजाम देने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार

Janta Se Rishta Admin
8 Aug 2022 9:32 AM GMT
पति-पत्नी की हत्या का खुलासा: प्लानिंग के साथ घटना को अंजाम देने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार
x

रायगढ़। डबल मर्डर मामले में पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक सरिया थाना क्षेत्र के ग्राम नदीगांव सूरजगढ़ महानदी पुल नीचे एक अधेड़ महिला एवं अधेड़ पुरूष का शव मिला था । सूचना पर मौके पर पहुंची सरिया पुलिस टीम द्वारा शव को मौके पर डॉक्टरों की टीम से पोस्टमार्टम कराकर पीएम रिपोर्ट प्राप्त किया गया। घटना के संबंध में थाना सरिया में अज्ञात आरोपी पर अप.क्र. 146/2022 धारा 302 IPC का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटना की गंभीरता पर एसपी अभिषेक मीना द्वारा एडिशनल एसपी लखन पटले तथा एसडीओपी सारंगढ़ प्रभात पटेल को अपने सुपरविजन में जांच के निर्देश देकर थाना प्रभारी सरिया के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन कर अज्ञात मृतकों एवं आरोपियों की पतासाजी के लिए महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिया गया । थाना प्रभारी सरिया द्वारा मृतकों की शिनाख्त की के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक तथा अपने मित्रों के व्हाट्सएप ग्रुप में मृतकों के फोटोग्राफ्स शेयर कर जानकारी शेयर करने कहा गया । साथ ही सरिया पुलिस की टीम रायगढ़ तथा उड़ीसा के ज्यादातर सार्वजनिक स्थानों में मृतकों के मृतकों के पंपलेट चस्पा कर जानकारी लिया गया । इसी बीच थाना प्रभारी सरिया को मृतकों के महेशपुर बागबाहर के सुकरू यादव (40 साल) मनमती यादव (35 साल) के होने की जानकारी मिली । थाना प्रभारी अपने टीम के साथ महेशपुर पहुंचकर गोपनीय तरीके से जानकारी लेने पर विधि से संघर्षरत बालक सहित कुल 8 लोगों के द्वारा मिलकर जादू टोना के संदेह पर दिनांक 30.07.2022 के रात्रि घटना को अंजाम देने की जानकारी मिली जिस पर एक-एक कर पुलिस टीम द्वारा दबिश देकर लैलूंगा, जशपुर के विभिन्न इलाकों से 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है तथा घटना में शामिल एक आरोपी दशरथ यादव फरार हो गया पुलिस टीम द्वारा तांत्रिक को भी मामले का आरोपी बनाया गया है जिसका पतासाजी किया जा रहा है।

आरोपियों का खुलासा –

विधि से संघर्षरत बालक बताया कि ये दो भाई और एक बहन है, इसके माता पिता अलग रायगढ़ भगवानपुर में रहकर माली का काम करते थे । वे लोग जो भी कमाते दोनों भाइयों को कुछ नहीं देते यह लोग अपने गांव की खेती कर जीवन यापन कर रहे बड़े भैया खुलेश्वर यादव कुछ माह से मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गया था जिसे सतगुरु आश्रम ग्राम झीमकी चौकी कोतबा के तांत्रिक क्षेत्र मोहन यादव के पास ले जाकर झाड़-फूंक कर आए तो तांत्रिक छत्रमोहन यादव बोला कि तुम्हारे भैया को तुम्हारे माता-पिता मिलकर जादू टोना कर पागल कर दिए हैं तुम लोग उन्हें जान समेत मार दोगे तो तुम्हारा भाई ठीक हो जाएगा और तुम आर्थिक रूप से भी संपन्न हो जाओगे तब यह अकेले इस काम को कर पाने में अक्षम होने के कारण अपने जीजा नरसिंह यादव और चचेरे भाई राजू राम यादव, भोले शंकर यादव, शंकर यादव, खगेश्वर यादव, ईश्वरी यादव और दशरथ यादव के साथ मिलकर सुकरू राम यादव और मनवती यादव की हत्या का प्लान बनाएं । प्लान के तहत यह लोग हत्या कर शव को महानदी में फेंकना तय किए थे और प्लान के तहत दिनांक 30.07.2022 को योजना बनाकर एक बोलेरो वाहन किराए में लेकर रायगढ़ आये । इसका जीजा नरसिंह यादव बोलेरो वाहन क्रमांक सीजी 14 MB 3288 को लेकर स्वयं चलाते हुए सभी को वाहन में बिठाकर दिनांक 30.07.2022 की रात भगवानपुर और घटना को अंजाम देने के लिए साथ में रस्सी, गमछा और प्लास्टिक का सिंका लेकर आए थे और माता-पिता के किराए मकान में पहुंचकर उन्हें बोले कि खुलेश्वर यादव का तबीयत बहुत ज्यादा खराब है चलो उसे देख कर आना और उन्हें झूठ बोलकर बोलेरो वाहन में बिठाकर सूरजगढ़ महानदी पुल के उस पार सरिया भटली रोड तक ले गए गाड़ी को रोड किनारे एकांत तरफ ले गए तब उसके माता पिता कहने लगे कि यह कहां ले आए इसी बीच खगेश्वर यादव और शंकर यादव उसके माता पिता के हाथ पकड़ कर मुंह को दबा दिए और विधि से संघर्षरत बालक और दशरथ यादव गमछा को दो टुकड़ों में फाड़ कर दोनों महिला पुरुष के गले में लपेट का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दिए और फिर लाश को छुपाने के उद्देश्य से सभी मिलकर रोड किनारे पड़ा दो नग सीमेंट का खम्मा का टुकड़ा और सीमेंट खंबा के वजन के टुकड़े को प्लास्टिक के सिंका से महिला और पुरुष के गले में बांधकर बोलेरो वाहन से परसरामपुर महानदी पुल के ऊपर ले जा कर लाश को छिपाने के उद्देश्य से पुल से नीचे महा नदी में फेंक दिए और बोलेरो से अपने अपने घर चले गए । पुलिस टीम द्वारा आरोपियों से 5 नग मोबाइल, बोलेरो वाहन तथा घटनास्थल से 2 नग पत्थर, 2 नग सिंका, 2 नग टावेल, 1 रस्सी की जप्ती किया गया है ।

अदम शिनाख्त शव एवं अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में थाना प्रभारी सरिया के उप निरीक्षक कमल किशोर पटेल, प्रधान आरक्षक भुनेश्वर पंडा, खीरेंद्र कुमार जलतारे, अर्जुन पटेल, आरक्षक मुकेश साहू, राजकुमार साव, कन्हैया चौहान, पुरुषोत्तम राठौर, सुशील यादव और विपिन कुमार डेहरी का सराहनीय योगदान रहा है । मामले का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीना द्वारा नगद इनाम राशि से पुरस्कृत किया है।

गिरफ्तार 7 आरोपी –

1- विधि से संघर्षरत बालक (17.9 माह)

2- नरसिंह यादव पिता जगबंधु यादव उम्र 28 वर्ष निवासी झरन थाना लैलूंगा (मृतक का दामाद)

3-राजूराम यादव पिता कमल यादव उम्र 35 वर्ष निवासी महेशपुर थाना बागबाहर जिला जशपुर (मृतक का भतीजा)

4- भोले शंकर यादव पिता स्वर्गीय मोहन राम यादव उम्र 21 वर्ष निवासी खुंटापानी थाना बागबाहर

5-शंकर यादव उर्फ कैलाश पिता स्वर्गीय बुद्धू यादव उम्र 35 वर्ष निवासी महेशपुर थाना बागबाहर

6-खगेश्वर यादव पिता लेखन यादव उम्र 35 वर्ष निवासी खुंटापानी थाना बागबाहर

7- ईश्वरी यादव पिता स्वर्गीय गणेसोरो यादव उम्र 45 वर्ष निवासी खुंटापानी थाना बागबाहर

फरार आरोपी - दशरथ यादव पिता ईश्वर यादव साकिन मठ पहाड़ थाना बागबाहर जिला जशपुर

तांत्रिक – छत्रमोहन यादव निवासी ग्राम झिमकी चौकी कोतबाजिला जशपुर (धारा 120 IPC के तहत आरोपी)

मृतक - (1) सुकरू राम यादव पिता स्वर्गीय पुनाराम यादव उम्र 40 वर्ष

(2) मनवती यादव पति सुकरू राम यादव उम्र 35 वर्ष दोनों निवासी महेशपुर थाना बागबाहर जिला जशपुर हाल मुकाम भगवानुपर थाना कोतरारोड़ जिला रायगढ़ ।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta