छत्तीसगढ़

कोटवार और पटवारी के खिलाफ SDM से शिकायत, ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग

Janta Se Rishta Admin
15 Feb 2022 11:04 AM GMT
कोटवार और पटवारी के खिलाफ SDM से शिकायत, ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग
x
छग न्यूज़

गरियाबंद। ग्राम कोटवार और पटवारी की मिलीभगत से पड़त जमीन पर धान बेचने की शिकायत ग्रामीणों ने की है. गिरदावरी में खाली जमीन पर फसल की बात कहकर धान बेचे गए. इसकी शिकायत ग्रामीणों ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व राजिम से की है.

ग्रामीणों ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (एसडीएम) राजिम को किए शिकायत में बताया है कि ग्राम पुरैना की कोटवार अनुसुईया बाई पति मंगलू देवदास को ग्राम पुरैना पहनं 17 राजस्व निरीक्षक मंडल राजिम तहसील राजिम जिला गरियाबंद को शासन द्वारा सेवा भूमि के रूप में खसरा नंबर क्रमशः 381, 384, 435, 76/1 रकबा क्रमशः 1.62 हेक्टेयर, 1.31हेक्टेयर, 0.18 हेक्टेयर, 0.63 हेक्टेयर कुल रकबा 3.74 हेक्टेयर अर्थात नौ एकड़ 35 डिसमिल जमीन प्रदान की गई है. खसरा नंबर 76/1 रकबा 0.63 हेक्टेयर में से 0.55 हेक्टेयर में पटवारी द्वारा किए गए गिरदावरी में धान बोना बताया गया है और खरीफ वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य में 20 क्विंटल धान अनुसुईया बाई द्वारा बेची गई है. जबकि इस पूरे रकबा में धान ही नहीं बोया गया था. इस प्रकार कोटवार अनुसुईया बाई और पटवारी की मिलीभगत से गलत गिरदावरी प्रतिवेदन तैयार किया गया और शासन को आर्थिक क्षति पहुंचाई गई है जिसके विरुद्ध कार्रवाई अति आवश्यक है.

शिकायत आवेदन में आवेदक ग्रामीणों रेखुराम साहू, संभु राम सेन, महेंद्र कुमार साहू, आनंद राम, लोमश साहू, शेखुराम साहू, नीलम साहू ने बताया कि ग्राम कोटवार अनुसुईया बाई ग्राम में मनमानी करते हुए अपनी सेवा भूमि के अतिरिक्त शासकीय घास भूमि खसरा नंबर 377, 839, 375 पर भी कब्जा किया हुआ है और प्रत्येक पांच साल में पटवारी द्वारा सीमांकन कराकर अन्य किसानों के भूमि स्वामी की भूमि को अपने में मिलाकर किसानों से लड़ाई झगड़ा करती है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta