छत्तीसगढ़

बदलता बस्तर: नई तस्वीर स्पेशल स्टोरी, आवास योजना से खुशहाल हुआ गांव

AJAY
16 Aug 2021 4:10 PM GMT
बदलता बस्तर: नई तस्वीर स्पेशल स्टोरी, आवास योजना से खुशहाल हुआ गांव
x

बीजापुर। जब हम किसी गांव की कल्पना करतें है तो हमारी आँखो के सामने झोपड़ी और घास-फूस से बने कच्चे मकान की तस्वीर उभरने लगती हैं, हमसे कोई कहे कि शासन की किसी योजना ने पुरे गांव की तस्वीर बदल दी है, तो एकाएक इस बात पर यकीन करना मुश्किल हो जाता है किन्तु यह बिल्कुल सत्य है। ग्राम पंचायत रेड्डी में प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत 101 मकान पूर्ण कर ऐसा करने वाला प्रथम पंचायत होने का गौरव प्राप्त किया है। यह आकड़ा इसलिए और भी महत्तवपूर्ण हो जाता है क्योंकि यह धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र है जहां 6 माह आवागमन बाधित रहता है और आश्रित ग्राम कोटेर तक आवश्यक सामाग्री की उपलब्धता जैसी तमाम विपरीत परिस्थियों के बाद भी जमीनी अमले की कड़ी मेहनत और हितग्राहियों की दृढ.-इच्छाशक्ति के बलबूते पर यह लक्ष्य प्राप्त किया गया है। ग्राम पंचायत रेड्डी में सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के आधार पर कुल 171 परिवारों को स्थायी प्रतीक्षा सूची में शामिल किया गया था जिसमें से 101 हितग्राहियों ने अपना आवास पूर्ण कर लिया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के स्वीकृति से पूर्व इस अतिसंवेदनषील ग्राम पंचायत में एक भी पक्का मकान नहीं था। आज 101 पक्का मकान पूर्ण कराया गया है जो कि योजना की सफलता का सूचक हैं, इन 101 आवासों में से 50 आवास पंचायत के आश्रित गांव कोटेर में स्वीकृति प्रदाय की गयी थी, जहां बारिश के दिनों में 06 माह तक आवागमन बाधित रहता है जिसके बाद भी हितग्राहियों में पक्का आवास की चाहत एवं इच्छाशक्ति की वजह से सभी मकान को पूर्ण कर लिया गया है, ग्रामीणों के द्वारा आवास निर्माण हेतु आवश्यक सामग्री जैसे कि सीमेन्ट, छड़, गिट्टी आदि बारिश होने के पहले ही लेकर रखा जाता था क्योंकि नदी में बाढ़ आ जाने से आवागमन रूक जाता है। जिला कलेक्टर के निर्देश एवं सतत मार्गदर्शन पर मैदानी अमलों द्वारा पूरी मेहनत और लगन से कार्य किया गया। ग्राम पंचायत सचिव द्वारा इस योजना को सफलतापूर्वक धरातल तक पहुंचाने में प्रमुख योगदन दिया है। इनके द्वारा सभी हितग्राहियों को समझाना एवं उन्मुखीकरण में सहयोग तथा पंचायत स्तर पर हितग्राहियों को एकत्र करना जिला/जनपद स्तर के अधिकारियों से प्राप्त निर्देश हितग्राहियों तक पहुॅचाना साथ ही हितग्राहियों की बैंक संबंधी समस्या का निराकरण बैंक जाकर शाखा प्रबंधक से समन्वय कर एवं योजना अन्तर्गत आवश्यक विभिन्न स्तर के जियो-टेग इनके द्वारा समय पर किया गया जिससे हितग्राहियों को समय पर किस्त प्रदाय हो सकी, जिसके परिणाम स्वरूप आज हम योजना को सफल रूप से देख पा रहे है तथा प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत 1.30 लाख की राषि प्रदाय की गयी एवं मनरेगा से अभिसरण के तहत 95 दिवस का मानव दिवस का भुगतान की मंजुरी दी गई।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta