छत्तीसगढ़

जलती चिता को अपमान करने के आरोप में 8 ग्रामीण गिरफ्तार, सरपंच भी शामिल

Janta Se Rishta Admin
28 July 2022 10:48 AM GMT
जलती चिता को अपमान करने के आरोप में 8 ग्रामीण गिरफ्तार, सरपंच भी शामिल
x

जांजगीर-चाँपा। जलती चिता से शव बाहर निकालने पर नाराज लोगो ने हंगामा खड़ा कर दिया। आरोप है कि कल शाम अंतिम संस्कार करने के दौरान अन्य समाज के लोगो ने पानी डाल कर चिता को बुझा दिया और लात मार कर चिता से शव को बाहर निकाल दिया। गुस्साए लोगों ने आधी रात से ही हंगामा करते हुए जैजैपुर-बाराद्वार पहुँच मार्ग में चक्काजाम कर दिया।

मिली जानकारी के अनुसार बाराद्वार थाना क्षेत्र में बाराद्वार कस्बे से 7 किलोमीटर दूर बस्ती बाराद्वार गाँव हैं। गांव के पुरानी बस्ती निवासी 24 वर्षीय युवक प्रदीप पाटले पिता भैयालाल पाटले ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने उसके परिजनों को शव सौप दिया। परिजन कल अंतिम संस्कार करने के लिए बाराद्वार में अपने समाज के श्मशान घाट पहुँचे। कल शाम बारिश के चलते वहां अंतिम संस्कार में दिक्कत हो रही थी। इसलिए परिजनो ने तालाब के पास स्थित दूसरे समाज के श्मशान घाट में शव लेजाकर अंतिम संस्कार शुरू कर दिया।

आरोप हैं कि इस दौरान दूसरे समाज के लोगो ने अपने श्मशान में अंतिम संस्कार से आपत्ति जताते हुए पानी डालकर जलती चिता को बुझा दिया। फिर लात मार कर शव को चिता से बाहर निकाल दिया गया और गाली गलौच भी की गई। इससे गुस्साए मृतक के परिजनों व समाज के लोगो ने देर रात ही बाराद्वार- जैजैपुर पहुँच मार्ग पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। गुस्साये लोग हंगामा करने लगे। स्थिति बिगड़ने पर एसडीएम, तहसीलदार वहां पहुँचे। एसपी विजय अग्रवाल के निर्देश पर एडिशनल एसपी अनिल सोनी 6 अन्य थानों के थानेदारो को उनके थानों के बल समेत लेकर रात ही को वहां पहुँच गए। एसडीएम व पुलिस अधिकारियों ने लोगो को समझाइश दी पर लोग मानने के लिए तैयार नही थे। जिसके चलते देर रात से ही रोड में चक्काजाम लग गया था। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के द्वारा लोगो को समझाइश दी गई पर आक्रोशित लोग मानने को तैयार नही थे। जिसके चलते प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही एडिशनल एसपी अनिल सोनी थानेदारो व बल के साथ रात भर वही जमे रहे।

पुलिस के द्वारा मृतक के पिता भैयालाल पाटले की शिकायत पर बस्ती बाराद्वार के सरपंच जगदीश उरांव सहित अन्य लोगो पर धारा 147 व धारा 297( शव के साथ अतिचार व अंतिम संस्कार में शामिल लोगों को विघ्कारित करना) दर्ज कर लिया। मामले की विवेचना पर साक्ष्य मिलने पर एफआईआर में धारा 295 क ( दो समाजो के बीच वैमनस्यता फैलाना) भी जोड़ी गई हैं। एसपी के निर्देश पर त्वरित कार्यवाही करते हुए एडिशनल एसपी अनिल सोनी ने सरपंच जगदीश उरांव समेत 8 आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद गुस्साए लोगो ने चक्काजाम समाप्त कर दिया। मामले में संलिप्त अन्य लोगो की जांच व तलाश की जा रही हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta