छत्तीसगढ़

बोरे बासी डे : बोरे-बासी खाये ले रथे तबियत बढिया, छत्तीसगढ़िया सबले बढिया

Admin2
30 April 2022 1:22 PM GMT
बोरे बासी डे : बोरे-बासी खाये ले रथे तबियत बढिया, छत्तीसगढ़िया सबले बढिया
x
borebasiday "गजब विटामिन भरे हुए हे छत्तीसगढ़ के बासी मा।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क : borebasidayछत्तीसगढ़ के व्यंजन बोरे बासी को लेकर भूपेश बघेल मुख्यमंत्री ने कहा, जब हम कहते हैं कि "बटकी में बासी अउ चुटकी में नून' तो यह सिंगार हमें हमारी संस्कृति से जोड़ता है।

डॉ. बघेल ने भी कहा है, "गजब विटामिन भरे हुए हे छत्तीसगढ़ के बासी मा।' मुख्यमंत्री ने कहा, युवा पीढ़ी को हमारे आहार और संस्कृति के गौरव का एहसास कराना बहुत जरूरी है।
एक मई को हम सब बोरे बासी के साथ आमा के थान और गोंदली के साथ हर घर में बोरे बासी खाएं और अपनी संस्कृति और विरासत पर गर्व महसूस करें।
बोरे बासी को लेकर इंस्टाग्राम फेसबुक ट्विटर जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में भी लगातार अपलोड होते पोस्ट को देख कर यह भी देखा जा सकता है की
चाहे ग्रामीण हो या शहरी इलाका, बासी का स्वाद अभी भी लोगो की जुबान में है,

यह काफी सराहनीय बात है कि छत्तीसगढ़ के इस व्यंजन को मुख्य व्यंजन की तरह गिना जायेगा, क्यूंकि सिर्फ किसान और मजदुर तक ही नहीं बल्कि बोरे बासी प्रदेश के हर तबके के लोगो के घर में
गर्मी के मौसम में
चाव से खाया जाता है,
बोरे बासी को लेकर लेखक डॉक्टर खूबचंद बघेल द्वारा एक शानदार लेख भी लिखी गयी थी, जिसे इंस्टाग्राम में एक पेज ग्रुप द्वारा शेयर किया गया था.

बोरे बासी को के फंक्शनल फूड के विषय में भी ट्विटर पर पोस्ट किया गया है.



Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta