बिहार

जात अलग होने कारण समाज ने नहीं स्वीकार की शादी

Sonali
26 Nov 2021 9:03 AM GMT
जात अलग होने कारण समाज ने नहीं स्वीकार की शादी
x
कहते हैं जब प्यार परवान पर होता है तो उसे कुछ दिखाई नहीं देता. प्रेमी युगल हर बाधा को लांघकर एक दूसरे के जीवनसाथी बनने के लिए तैयार रहते हैं. ऐसा ही वाक्या नवादा जिले के रजौली प्रखंड अन्तर्गत ऊपरटडा में मोहल्ले हुई है.

जनता से रिश्ता। कहते हैं जब प्यार परवान पर होता है तो उसे कुछ दिखाई नहीं देता. प्रेमी युगल हर बाधा को लांघकर एक दूसरे के जीवनसाथी बनने के लिए तैयार रहते हैं. ऐसा ही वाक्या नवादा जिले के रजौली प्रखंड अन्तर्गत ऊपरटडा में मोहल्ले हुई है. जहां अपने परिवार के विरोध के बावजूद एक प्रेमी युगल ने अंतरजातीय शादी की. हालांकि मंदिर में हुए इस प्रेम विवाह (Inter Caste Marriage In Nawada) में वर पक्ष के लोग मौजूद थे. लेकिन कन्या पक्ष से कोई भी शामिल नहीं हुआ.

दरअसल प्रेमी युगल विश्वास कुमार एवं निशा कुमारी दोनों का घर ऊपरटडा गांव में ही है. बताया जाता है कि दोनों में कई वर्षों से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. दोनों प्रेमी युगल चोरी छिपे 4 महीना पूर्व नवादा कोर्ट में कोर्ट मैरिज भी कर लिये थे. हालांकि सामाजिक तौर पर लोग इन्हें पति- पत्नी नहीं मान रहे थे. तब लड़का पक्ष के परिजनों और पुरोहित की मौजूदगी में पूरे रस्मों रिवाज, मंत्र उच्चारण, विधि विधान के साथ वरमाला और सिंदूर दान के साथ विवाह संपन्न करवाया गया.
इस मौके पर लड़का पक्ष के लोग और मोहल्ले के लोग भी उपस्थित थे. लेकिन लड़की पक्ष के लोगों ने इस विवाह का विरोध करने हुए शादी में नहीं आए. बताया जा रहा है कि प्रेमिका अपने परिवार वालों के विरुद्ध जाकर अपने प्रेमी से शादी करने का जिद पर अड़ी थी . दोनों प्रेम दीवाने मानने वाले कहां थे. बालिग होने की बात कर दोनों प्रेमी युगल शादी के बंधन में बंध गए. इस माहौल में मोहल्ले के लोगों ने खुशी जताते हुए मिठाई बांटते नजर आए. दोनों ने मिलकर अंतरजातीय विवाह कर काफी खुश थे. इस प्रेम विवाह को देखने के लिए मंदिर परिसर में भीड़ लगी रही.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it