बिहार

नवादा में आकाशीय बिजाली ने बरपाया कहर, चार की मौत, एक घायल

Rani Sahu
3 Aug 2022 5:33 PM GMT
नवादा में आकाशीय बिजाली ने बरपाया कहर, चार की मौत, एक घायल
x
बिहार के नवादा जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में वज्रपात की चपेट में आने से चार लोगों की मौत (Four people died due to lightning) हो गई

नवादा: बिहार के नवादा जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में वज्रपात की चपेट में आने से चार लोगों की मौत (Four people died due to lightning) हो गई. वहीं, एक व्यक्ति गंभीर रूप से झुलस गया. परिजनों ने आनन-फानन में उसे इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया. जहां प्रथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए पावापुरी रेफर कर दिया.

वज्रपात की चपेट में आने से चार की मौत: पहली घटना जिले के रोह थानाक्षेत्र के कुंजैला गांव की है. जहां खेत में काम कर लौट रहे एक किसान वज्रपात की चपेट में आ गया. जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गयी. मृतक की पहचान कुंजैला गांव निवासी दुखी माहतो का पुत्र फागुनी माहतो के रूप में हुई है. घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया. सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और कागजी प्रक्रिया पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया.
आकाशीय बिजली से एक व्यक्ति झुलसा: दूसरी घटना जिले के सिरदला थानाक्षेत्र की है. जहां कुशाहन टोला चक गांव के समीप चकिया आहर के पास वज्रपात की चपेट में आने से चक गांव निवासी राजेन्द्र राजवंशी के पुत्र बाबूलाल राजवंशी (35 वर्ष) और मोहगायन निवासी चंदन कुमार की मौत हो गयी. वहीं, फतेहपुर गया के बारा बैजदा निवासी कौशल कुमार झुलस गया. जिसे पावापुरी रेफर किया गया है.
आपदा कोष से दी गई चार-चार लाख की मुआवजा राशि: घटना के बाद समाजसेवी संजय कुमार यादव ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं, अंचल अधिकारी गुलाम सरवर, थानाध्यक्ष सरोज कुमार सिंह व बीडीओ डॉ. राजेश कुमार दिनकर ने घटनास्थल का जायजा लिया. और मृतक की पत्नी को मुख्यमंत्री आपदा कोष से चार-चार लाख रुपये के चेक दिए.
मामले की जांच में जुटी पुलिस: वहीं, मौके पर अकौना पंचायत के मुखिया विनय कुमार ने मृतक के परिजनों को दाह-संस्कार के लिए तीन हजार की सहायता राशि दिए. इस घटना से परिजनों के साथ-साथ गांव में भी शोक माहौल है. इसके अलावा हजरा गांव में 19 वर्षीय युवक वज्रपात की चपेट में आ गया. मौके पर ही उसकी मौत हो गई. बताया जाता है कि पप्पू कुमार मवेशी को बाधार में चराने के लिए गया था. इसी दौरान वह आकाशीय बिजली से झुलस गया, जिससे उसकी मौत हो गयी. फिलहाल पुलिस सभी मामले की जांच कर रही है.

सोर्स- etv bharat hindi

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta