असम

चिंताजनक: सात दिन में 15 राज्यों में फैला कोरोना, छह से 12 जून के बीच बदली स्थिति

Nidhi Markaam
14 Jun 2022 12:40 PM GMT
चिंताजनक: सात दिन में 15 राज्यों में फैला कोरोना, छह से 12 जून के बीच बदली स्थिति
x

भीषण गर्मी के बीच कोरोना संक्रमण की गति काफी तेज हुई। महज सात दिन में ही संक्रमण देश के चार से 15 राज्यों तक पहुंच गया है। जहां कम से कम एक-एक जिले में संक्रमण गंभीर स्थिति में है। इन जिलों को येलो जोन में रखते हुए तत्काल निगरानी बढ़ाने के निर्देश भी जारी हुए।

सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की जारी रिपोर्ट में पता चला है कि छह से 12 जून के बीच देश के 50 जिलों में कोरोना का संक्रमण पांच फीसदी से ऊपर निकल गया है। जबकि छह जून से पहले तक इन जिलों की संख्या 28 थी। मिजोरम, पांडिचेरी और अरुणांचल प्रदेश में संक्रमण 70 फीसदी तक पहुंच गया है। यानी यहां एक सप्ताह के दौरान जांच में 10 में से सात सैंपल कोरोना संक्रमित मिले हैं।

ना गालैंड, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल का एक-एक जिला येलो जोन में है। इसी तरह दिल्ली के 11 में से चार जिले दक्षिण, पूर्वी, उत्तर पश्चिम और मध्य दिल्ली में संक्रमण पांच से साढ़े पांच फीसदी के बीच है। इनके अलावा हरियाणा के गुरुग्राम में 9.40, फरीदाबाद में 7.08 और पंचकूला में 6.41 फीसदी संक्रमण है। इसी तरह अरुणांचल प्रदेश, असम, गोवा, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और मिजोरम में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अपर सचिव ने कहा, कोरोना प्रसार पहले की तुलना में तेज है। इसके पीछे नए वैरिएंट की भूमिका भी हो सकती है लेकिन उसके बारे में अभी तक इन्साकॉग एवं वैज्ञानिक दलों से पुष्टि नहीं हो पाई है।

दिल्ली का असर पूरे एनसीआर पर

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, दिल्ली का असर पूरे एनसीआर पर दिखाई दे रहा है। दिल्ली की तीन सीमाओं से सटे गौतमबुद्ध नगर, गुरुग्राम और फरीदाबाद में संक्रमण येलो जोन में पहुंच गया है। जबकि गाजियाबाद और सोनीपत की स्थिति अभी काफी हद तक नियंत्रित है। उन्होंने कहा, मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार से तत्काल इन दोनों शहरों में निगरानी बढ़ाने के लिए कहा है। ताकि संक्रमण के प्रसार को जल्द से जल्द नियंत्रण में लाया जा सके।

122 दिन बाद संक्रमण दर तीन फीसदी पार

देश में122 दिन बाद सोमवार को पहली बार कोरोना संक्रमण दर तीन फीसदी पार पहुंची है। आखिरी बार इस साल 11 फरवरी को एक दिन में 3.50 फीसदी सैंपल संक्रमित मिले। जबकि बीते एक दिन में 3.24 फीसदी सैंपल संक्रमित पाए गए। इसके बावजूद देश में कोरोना जांच बढ़ाने की जगह बीते रविवार एक लाख सैंपल की कमी भी दर्ज की गई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि पिछले एक दिन में 8,084 नए मरीज सामने आए हैं। इसी के साथ ही देश में कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 4,32,30,101 हुई। वहीं बीते एक दिन में 10 मरीजों की मौत हुई।

जांच में न हो कमी, हर घर दस्तक अभियान में लाएं तेजी : मांडविया

कोरोना को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने सोमवार को राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। केंद्रीय मंत्री ने उन्हें जांच में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करने, हर घर दस्तक अभियान में तेजी लाने के साथ जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं। 

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta