असम

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- शांति समझौते से पूर्वोत्तर में शांति की नींव

Gulabi Jagat
9 May 2022 2:54 PM GMT
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- शांति समझौते से पूर्वोत्तर में शांति की नींव
x
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह
गुवाहाटी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के कार्यकाल में उग्रवादी संगठनों के साथ हुए शांति समझौतों से पूर्वोत्तर में आतंकवाद और बम विस्फोट मुक्त क्षेत्र की नींव पड़ी।
पूर्वोत्तर राज्यों में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और प्रदेश पुलिस के सेंट्रल वर्कशाप तथा भंडार की नींव रखने के बाद तमालपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, 'सात साल पहले पूर्वोत्तर क्षेत्र में हिंसा की राजनीति चलती थी। हम सत्ता में आये और हमने कई शांति समझौतों पर हस्ताक्षर किये, जिसके बाद नौ हजार से अधिक उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण कर समाज की मुख्यधारा में शामिल हुए हैं।'
उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार ने क्षेत्र से आतंकवाद को खत्म करने का अपना वादा निभाया है। उन्होंने कहा कि 2020 में नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) और केंद्र के बीच बोडो शांति समझौते के 90 प्रतिशत से अधिक वादों को कम अंतराल में ही केंद्र ने पूरा कर दिया है।
उन्होंने बोडो लोगों को उनकी सामाजिक, सांस्कृतिक, भाषाई और जातीय पहचान की रक्षा करने का आश्वासन दिया। केंद्रीय मंत्री ने कि बीटीआर क्षेत्र के समग्र विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम कर रही हैं तथा केंद्र पहले ही बोडो प्रादेशिक क्षेत्र के विकास के लिए 1500 करोड़ रुपये के विशेष पैकेज को मंजूरी दे चुकी है।
आत्मनिर्भर भारत के मुद्दे पर चर्चा करते हुए उन्होंने असम के जनजातीय क्षेत्रों में स्थानीय लोगों को बड़े पैमाने पर शहद उत्पादन की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए खादी उत्पादों को बढ़ावा देने का भी आह्वान किया।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta