असम

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और अन्य बागी विधायक जो सूरत के ली मेरिडियन होटल में ठहरे, गुजरात से असम पहुंच चुके

Nidhi Singh
22 Jun 2022 11:17 AM GMT
शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और अन्य बागी विधायक जो सूरत के ली मेरिडियन होटल में ठहरे, गुजरात से असम पहुंच चुके
x

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और अन्य बागी विधायक जो सूरत के ली मेरिडियन होटल में ठहरे थे, गुजरात से गुवाहाटी (असम) पहुंच चुके हैं। माना जाता है कि असम भाजपा और राज्य सरकार का शीर्ष नेतृत्व गुवाहाटी में शिवसेना के बागी विधायकों के रुकने की व्यवस्था कर रहा है। बीजेपी विधायक उनका स्वागत करने के लिए एयरपोर्ट भी पहुंचे थे।

यह शायद पहली बार है कि किसी पश्चिमी राज्य के विधायकों को पार्टी नेतृत्व के खिलाफ विद्रोह के बाद पूर्वोत्तर राज्य में ले जाया जा रहा है। शिंदे के पार्टी के खिलाफ बगावत करने और कुछ साथी विधायकों के साथ सूरत में डेरा डाले जाने के बाद शिवसेना ने मंगलवार को अपने विधायकों को अवैध शिकार से बचने के लिए मुंबई के ही होटलों में शिफ्ट कर दिया है

भाजपा से हाथ नहीं मिला रहे हैं शिंदे, शिवसेना के बागी विधायकों के संग पहुंचे गुवाहाटी

शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे के पार्टी के खिलाफ बगावत करने और कुछ विधायकों को भाजपा शासित गुजरात ले जाने के बाद मंगलवार को महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ गठबंधन पर राजनीतिक अनिश्चितता बढ़ गई है। इन अटकलों को जीवित रखते हुए कि भगवा पार्टी एक "ऑपरेशन लोटस" की योजना बना रही है। विधायकों को बुधवार को एक अन्य भाजपा शासित राज्य असम ले जाया गया।

शिंदे ने 40 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया। जबकि शिंदे खेमा अपने भीतर के घटनाक्रम पर चुप्पी साधे रहा। शिंदे ने कहा: "हमने बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना को नहीं छोड़ा है। हम इसे नहीं छोड़ेंगे। हम बालासाहेब के हिंदुत्व का पालन कर रहे हैं और इसे आगे भी ले जाएंगे।" गुजरात के सूरत से गुवाहाटी स्थानांतरित होने पर उन्होंने कहा कि यह केवल एक पर्यटन यात्रा थी।

गुजरात के सूरत से असम के गुवाहाटी पहुंचने के बाद शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा, "शिवसेना के कुल 40 विधायक यहां मौजूद हैं। हम बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व को आगे बढ़ाएंगे।" वहीं, असम में भाजपा विधायक सुशांत बोरगोहेन ने कहा, ''मैं उन्हें (गुजरात के सूरत से शिवसेना विधायक) लेने आया था। कितने विधायक आए हैं, यह मैंने नहीं गिना। मैं यहां निजी संबंधों के लिए आया हूं। उन्होंने किसी कार्यक्रम का खुलासा नहीं किया है।''

कांग्रेस के कारण बागी हो गए शिंदे, ठाकरे-राउत से हुई थी जबरदस्त लड़ाई

उद्धव ठाकरे की सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे ने बागी तेवर अपनना लिए हैं। उन्होंने राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार को संकट में डाल दिया है। उनके विद्रोह से दो दिन पहले राज्य के कैबिनेट मंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे और शिवसेना सांसद संजय राउत के साथ पवई के एक होटल में उनकी तीखी बहस हुई थी। आपको बता दें कि यहां शिवसेना के विधायकों को विधानपरिछद चुनाव के लिए ठहराया गया था।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta