असम

असम-मेघालय सीमा विवाद: फर्स्ट फेज में हल किए जाएंगे 6 विवादित क्षेत्र, मुख्यमंत्री हिमंता ने दी जानकारी

Kunti Dhruw
18 Jan 2022 2:20 PM GMT
असम-मेघालय सीमा विवाद: फर्स्ट फेज में हल किए जाएंगे 6 विवादित क्षेत्र, मुख्यमंत्री हिमंता ने दी जानकारी
x
असम राज्य (Assam) के साथ कई पूर्वोत्तर पड़ोसी राज्य से सीमा को लेकर विवाद है।

असम राज्य (Assam) के साथ कई पूर्वोत्तर पड़ोसी राज्य से सीमा को लेकर विवाद है। जिसमें मिजोरम राज्य का विवाद बहुत बड़ा है लेकिन दूसरी ओर मेघालय (Meghalaya) राज्य के साथ असम ने शांति वार्ता से विवाद को सुलझाने का फैसला किया है। जिसकी शुरूआत आज से हो चुकी है। बता दें कि दशकों से चले आ रहे असम-मेघालय सीमा विवाद (Assam-Meghalaya border) को खत्म करने के लिए दोनों सरकारों ने चरण के अनुसार क्षेत्रों के अतंर को सुलझाने के लिए सहमती जताई है।

दोनों सरकारों के मुताबकि "पहले चरण" में 12 में से 6 क्षेत्रों में अंतर को हल करने के लिए लिया जाएगा। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने राज्य के सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को ब्रीफ करते हुए यह जानकारी दी है।हिमंता बिस्वा ने कहा कि "असम-मेघालय सीमा विवाद (Assam-Meghalaya borde) को हल करने के हमारे प्रयासों ने फल देना शुरू कर दिया है क्योंकि पहले चरण में मतभेद के 12 क्षेत्रों में से 6 की पहचान कर ली गई है।" उन्होंने आगे बताया कि "अंतिम समाधान के लिए उठाए गए मतभेदों के क्षेत्र हैं- हाहिम, गिज़ांग, ताराबारी, बोकलापारा, खानापारा-पिलिंगकाटा और रातचेरा।"
" दोनों राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ तीन क्षेत्रीय समितियों की सिफारिशों के आधार पर सौहार्दपूर्ण समाधान का रोडमैप तैयार किया गया है।"विशेष रूप से, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) और उनके मेघालय समकक्ष मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (Conrad Sangma) ने दोनों राज्यों के बीच जटिल सीमा मुद्दे पर एक और महत्वपूर्ण दौर की बैठक की। हिमंता ने पड़ोसी राज्य मेघालय के साथ सीमा विवाद के मुद्दे (border issue) पर असम में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta