आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश उपचुनाव: बडवेल विधानसभा सीट पर वोटिंग, BJP का आरोप, हो रहा फर्जीवाड़ा

Kunti Dhruw
30 Oct 2021 4:20 PM GMT
आंध्र प्रदेश उपचुनाव: बडवेल विधानसभा सीट पर वोटिंग, BJP का आरोप, हो रहा फर्जीवाड़ा
x
आंध्र प्रदेश की बडवेल विधानसभा सीट पर शनिवार को हुए उपचुनाव के पहले चार घंटे में 20 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपना वोट डाला।

अमरावती, आंध्र प्रदेश की बडवेल विधानसभा सीट पर शनिवार को हुए उपचुनाव के पहले चार घंटे में 20 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपना वोट डाला। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी के. विजयानंद के मुताबिक, 281 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से मतदान शुरू होने के बाद से 20.89 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। उन्होंने कहा, कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं आई है।

चुनाव अधिकारियों ने मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के गृह जिले कडापा में मतदान के लिए व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की है। सीईओ ने कहा कि फर्जी वोटिंग और बाहरी लोगों को लाए जाने के आरोप सही नहीं हैं। उन्होंने कहा कि तीन मतदान केंद्रों पर नकली मतदान के दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में तकनीकी खराबी देखी गई और वास्तविक मतदान शुरू होने से पहले इसे ठीक कर लिया गया।
विजयानंद वेबकास्टिंग के जरिए मतदान प्रक्रिया की निगरानी कर रहे हैं। सभी मतदान केंद्रों से वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। मतदान अधिकारियों ने मतदान केंद्रों के बाहर की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए 271 वीडियोग्राफरों को भी लगाया है। मतदान शाम सात बजे तक होगा। कोविड-19 से संक्रमित मतदाता शाम 6 बजे से शाम 7 बजे के बीच अपने वोट डाल सकते हैं।
केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की पंद्रह कंपनियां और आंध्र प्रदेश पुलिस के 1,606 कर्मियों को तैनात किया गया है। इस बीच, अटलुरु मंडल के एस. वेंकटपुरम में तनाव व्याप्त हो गया जब भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि बाहरी लोगों को वोट डालने के लिए वहां लाया गया था। बिना पहचान पत्र के मतदान केंद्र पर आई 40 महिलाओं को पुलिस ने वापस भेज दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कुछ मतदान केंद्रों पर भाजपा एजेंटों को परेशान किया जा रहा है।
भाजपा सांसद सी.एम. रमेश ने यह भी आरोप लगाया कि फर्जी मतदान के लिए पुलिस और वाईएसआरसीपी कार्यकर्ताओंकी मिलीभगत है। उन्होंने कहा कि कई मतदान केंद्रों पर अनियमितता बरती जा रही है जहां केंद्रीय बलों की तैनाती नहीं की गई है। सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) के मौजूदा विधायक जी वेंकटसुब्बैया के निधन के कारण हुए उपचुनाव में कुल 15 उम्मीदवार अपने राजनीतिक भाग्य का परीक्षण कर रहे हैं। वाईएसआरसीपी ने उनकी पत्नी दसारी सुधा को मैदान में उतारा है, जो कांग्रेस पार्टी के एम. कमलम्मा और भाजपा के पी. सुरेश के खिलाफ त्रिकोणीय मुकाबले में हैं।
मुख्य विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) मृतक विधायक के परिवार के सदस्यों को समर्थन देने की अपनी परंपरा के अनुरूप उपचुनाव नहीं लड़ रही है।

--आईएएनएस

एसएस/एएनएम


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta