Top
लाइफ स्टाइल

टिंडे के सेवन से हमारे शरीर को कौन-कौन से हैं लाभ, जानें

Rani Sahu
10 Jun 2021 7:58 AM GMT
टिंडे के सेवन से हमारे शरीर को कौन-कौन से हैं लाभ, जानें
x
टिंडा, एक ऐसी सब्जी है जिसका नाम सुनते हैं घरों में बच्चे मुंह बिगाड़ने लग जाते हैं।

टिंडा, एक ऐसी सब्जी है जिसका नाम सुनते हैं घरों में बच्चे मुंह बिगाड़ने लग जाते हैं। टिंडे का स्वाद कुछ-कुछ लौकी जैसा होता है लेकिन सेहत के लिए टिंडे जैसी फायदेमंद सब्जी क्या ही कोई दूसरी होगी। टिंडा सुपर फूड की श्रेणी में आता है। जिन लोगों को वजन घटाना होता है, उनके लिए तो यह बहुत ही बेहतरीन सब्जी है क्योंकि 94 प्रतिशत पानी इनमें होती है और कैलोरी तो न के बराबर पाई जाती है। टिंडे में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, थियामिन. नियासिन, रिबोफाल्विन, आयरन और पौटेशियम भी पाए जाते हैं। टिंडे के बीजों को भी बहुत लाभदायक माना जाता है। अगली स्लाइड्स से जानते हैं टिंडे के सेवन से हमारे शरीर को कौन-कौनसे लाभ पहुंचते हैं।

रोग- प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

टिंडा हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है इसलिए इसका सेवन सप्ताह में दो से तीन बार जरूर करें। टिंडे में ग्लोबुलिन नामक प्रोटीन पाए जाते हैं जो कि हमारे रक्त में भी होते हैं और यह बीमारियों से लड़ने में हमारी सहायता करते हैं। चिकित्सक रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए टिंडे के बीजों को खाने की सलाह भी देते हैं क्योंकि बीजों में भी फैटी एसिड और प्रोटीन पाए जाते हैं।

वजन कम करने के लिए

यदि आप वजन कम करना चाहती हैं, तब तो टिंडे का सेवन आपके लिए बहुत ही लाभकारी है। टिंडे में पानी और फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। इसे खाने के बाद लंबे समय के लिए भूख नहीं लगती है। यह हमारे शरीर में डिटॉक्सिफिकेशन की प्रक्रिया में भी हमारी सहायता करता है, जो कि वजन घटाने में बहुत मददगीर साबित होती है।

मधुमेह के लिए

टिंडे में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। इस कारण मधुमेह के रोगियों के लिए यह बहुत फायदेमंद साबित होती है। टिंडा शर्करा के अवशोषण को नियंत्रण में रखकर उसके स्तर को कम करता है। टिंडे के छिलके में फोटोकेमिकल होते हैं जो रक्त शर्करा को कम करने में मदद करता है। ताजा टिंडे की सब्जी बनाकर खाना मधुमेह के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक है।

बुखार दूर करे

टिंडे का सेवन करके बुखार कम किया जा सकता है। बुखार को दूर करने के गुण पानी में पाए जाते हैं इसलिए बुखार से ग्रसित मरीज को अधिक से अधिक मात्रा में टिंडे का सेवन करवाएं। बुखार को कम करने के लिए आप टिंडे का पेस्ट बनाकर भी उसे शरीर पर लगा सकते हैं। यह भी आपके लिए बहुत प्रभावशाली साबित हो सकता है और जल्द ही आपका बुखार उतर जाएगा।

नोट- यह लेख आनंद वेलनेस सेंटर की डाइटीशियन दीपिका गर्ग से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है। श्रीमती दीपिका गर्ग पिछले 28 सालों से इस क्षेत्र में काम कर रही हैं। उन्होंने अपनी डिग्री यूनिवर्सिटी ऑफ राजस्थान, जयपुर से ली है।

अस्वीकरण- अमर उजाला की हेल्थ एवं फिटनेस कैटेगरी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को अमर उजाला के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। अमर उजाला लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित अस्वीकरण- बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।



Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it