लाइफ स्टाइल

मौसमी बीमारियों को दूर रखते है ये फूड्स

Rounak
19 March 2023 2:18 PM GMT
मौसमी बीमारियों को दूर रखते है ये फूड्स
x
हमारा शरीर स्वस्थ्य तभी रह सकता है जब हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो।
हमारा शरीर स्वस्थ्य तभी रह सकता है जब हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो। क्योंकि यह हमारी इम्युनिटी ही है जो कई तरह की बीमारियों से लड़ने और उनके जोखिम को कम करने में लिए लगातार संक्रमण से लड़ती है। इसलिए यह वास्तव में आवश्यक है कि हम अपने दैनिक दिनचर्या की गतिविधियों को जारी रखने के लिए अपने शरीर को ऊर्जा प्रदान करें।
लेकिन कई बार ऐसे मौके आते हैं जब हमारे पास पोषक तत्वों की कमी होती है और तब हमें खुद को सक्रिय, ऊर्जावान और स्वस्थ रखने के लिए कुछ अतिरिक्त करने की आवश्यकता होती है, खासकर जब मौसम में बदलाव होते हैं। चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ फूड ड्रिंक्स के बारे में जो आपकी प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद हो सकते हैं।
इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सुपरफूड्स
इम्यूनिटी बढ़ाने और मौसमी बीमारियों को दूर रखने के लिए ये हैं 9 सुपरफूड्स-
1. तरबूज
लाइकोपीन, विटामिन सी और कैरोटीनॉयड से भरपूर तरबूज में 90 प्रतिशत पानी की मात्रा और 6 प्रतिशत शर्करा होती है। इसका सेवन स्लाइस या जूस के रूप में किया जा सकता है। यह हाइड्रेटेड रहने और ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने के लिए एकदम सही है।
2. ब्लैक प्लम (काला जामुन)
काला जामुन तब खाया जाता है जब वो पूरी तरह से पक जाता है। इसका स्वाद थोड़ा मीठा और थोड़ा अम्लीय और कसैला जैसा होता है। साथ ही यह आपकी जीभ को एक बैंगनी रंग का कर देता है। इसमें लगभग 80 प्रतिशत पानी और 16 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट शामिल है। जामुन में मध्यम मात्रा में विटामिन सी और काफी मात्रा में पॉलीफेनोल्स और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो एंटीहाइपरटेंसिव, एंटीहाइपरग्लाइसेमिक, कार्डियोप्रोटेक्टिव और एंटी-इंफ्लेमेटरी गतिविधियां प्रदान करते हैं।
3. आम पन्ना
आम को फलों का राजा कहते हैं, जिसमें बीटा कैरोटीन, एंटीऑक्सिडेंट, पोटेशियम और मैग्नीशियम होता है। यह न केवल सूजन को कम करता है बल्कि रक्तचाप को भी नियंत्रण में रखता है और उच्च फाइबर सामग्री कब्ज से भी राहत दिलाता है। आम पन्ना (कच्चे आम का रस) पोटेशियम, मैग्नीशियम और मैंगिफेरिन से भरपूर होता है, जो सनस्ट्रोक को रोकने में मदद करता है।
4. लौकी
उच्च पानी की मात्रा होने के अलावा, लौकी में विटामिन सी, बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन के, विटामिन ए और विटामिन ई के साथ-साथ आयरन, फोलेट, पोटेशियम, मैंगनीज और घुलनशील फाइबर भी होते हैं। ये सभी पोषक तत्व प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और पाचन में सहायता करने में मदद करते हैं।
5. नारियल पानी
नारियल पानी में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बेहद कम होती है। पोटेशियम, सोडियम और मैग्नीशियम युक्त इलेक्ट्रोलाइट्स आपके शरीर को खनिज प्रदान करते हैं और हाइड्रेटेड और स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
6. तुलसी के बीज
तुलसी के बीज में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (एएलए) और घुलनशील फाइबर भरपूर मात्रा में होते हैं, जो हाइड्रेशन, रक्त शर्करा के स्तर और पाचन में नियंत्रित रखने में सहायता करता है।
7. दही
यह न केवल एक शानदार प्रोबायोटिक फूड है, बल्कि यह कैल्शियम और प्रोटीन का भी अच्छा स्रोत है, जो दांतों और हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है। इसलिए, यह पाचन में मदद करता है, प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ावा देता है और रक्त शर्करा के स्तर को भी कम करता है, साथ ही वजन घटाने में भी मदद करता है।
8. सत्तू
सत्तू प्रोटीन का एक बढ़िया स्त्रोत है, साथ ही इसमें फाइबर की मात्रा भी काफी अच्छी होती है। सत्तू का सेवन कई तरह से किया जा सकता है। सत्तू का रस, सत्तू के लड्डू या फिर पराठे बनाकर अपने डाइट में शामिल किया जा सकता है।
9. कोकम
पारंपरिक समर कूलर कोकम शरबत बदलते मौसम के लिए एक बढ़िया विकल्प है। ये विटामिन ए, विटामिन बी3, विटामिन सी, फोलिक एसिड, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज और जिंक का समृद्ध स्त्रोत है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और पाचनक्रिया में सुधार करने में मदद करते हैं, जिससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ और मजबूत रहती है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta