Top
लाइफ स्टाइल

Monsoon & Covid-19: कोरोना संक्रमण के दौरान बच्चों को डेंगू-मलेरिया से कैसे बचाएं?

Tulsi Rao
22 July 2021 5:24 PM GMT
Monsoon & Covid-19: कोरोना संक्रमण के दौरान बच्चों को डेंगू-मलेरिया से कैसे बचाएं?
x
Monsoon Covid-19 सड़कों पर पानी भरना हो इलाकों में पानी का इकठ्ठा होना हो या फिर बाढ़ अगर इस समय माता-पिता अपने बच्चे की हेल्थ पर ध्यान नहीं देंगे तो बच्चे को वायरल फीवर निमोनिया डेंगू मलेरिया और हेप्टाईटिस-ए जैसी ख़तरनाक बीमारियां हो सकती हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क Monsoon & Covid-19: कोरोना वायरस महामारी के साथ अब मॉनसून के इस मौसम में मच्छर से होने वाली बीमारियों के मामले भी बढ़ते दिखते हैं। ऐसे में मां-बाप के लिए बच्चों को इन दोहरी बीमारियों से बचाना किसी चुनौती से कम नहीं है। सड़कों पर पानी भरना हो, इलाकों में पानी का इकठ्ठा होना हो या फिर बाढ़, अगर इस समय माता-पिता अपने बच्चे की हेल्थ पर ध्यान नहीं देंगे तो बच्चे को वायरल फीवर, निमोनिया, डेंगू, मलेरिया और हेप्टाईटिस-ए जैसी ख़तरनाक बीमारियां हो सकती हैं। जिसके साथ कोरोना वायरस संक्रमण का डर भी होगा।

मॉनसून में होती हैं ये बीमारियां
कुछ सबसे आम बीमारियां जो मॉनसून में बढ़ती हैं, वे वेक्टर बोर्न होती हैं। डेंगू चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियां इस सीज़न में इसलिए फैलती हैं क्योंकि इस नम वातावरण में मच्छर ज़्यादा तादाद में पनपते हैं। शहर में उन स्थानों की पहचान करनी इम्पोर्टेंट हैं, जहां मच्छर ज़्यादा पनपते हैं। इनका समय से उपाय करना ज़रूरी है, ताकि बीमारी के फैलाव को रोका जा सके। न सिर्फ वेक्टर बोर्न बीमारियां, बल्कि शहरों में इस समय डायरिया, टाइफोइड और कई तरह के वायरल फीवर के मामले भी बढ़ते हैं।
इलाज से बेहतर है सावधानी। हम आपको दे रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स, जो आपको बारिश के दौरान इन बीमारियों से बचाकर रख सकते हैं।
1. बच्चों को ऐसे कपड़े पहनाएं, जिसमें उनका शरीर ढका रहे, जैसे पूरी बाज़ू की शर्ट और फुल पैन्ट्स।
2. सुनिश्चित करें कि बच्चा साफ-सुथरा रहे और स्वच्छ पानी व खाना खाए।
3. पानी खूब पिलाएं और शरीर को हाइड्रेटेड रखें। खूब सारे तरल पदार्थ पिएं क्योंकि यह शरीर में पानी की भरपाई करते हैं और पानी के अच्छे संतुलन को बनाए रखता है। इससे आप मॉनसून के दौरान परेशानी पैदा करने वाले कई वायरस से लड़ सकते हैं।
4. मानसून के दौरान स्वच्छता से समझौता न करें। दिन में कई बार हाथ धोएं।
5. सड़क किनारे मिल रहे खाने या फ्रोज़न फूड को खाने से बचें। फ्रोज़न फूड में फफूंद बनने लगती हैं जिससे डायरिया और पेट में इन्फेक्शन होता है।
6. बच्चों को बारिश वाले जूते पहनाएं ताकि पैरों में संक्रमण होने से बचा जा सकता है, क्योंकि जहां पानी इकठ्ठा होता है, वहां फंगल इन्फेक्शन ज़्यादा फैलते हैं।
7. डेंगू और मलेरिया से बचने के लिए घर से बाहर जाते समय मच्छर भगाने वाले रेपेलेंट्स और घर पर मच्छरदानी का प्रयोग करें।
8. आसपास मच्छरों के पनपने वाली जगह को साफ करें।
9. बाहर जाते समय स्वच्छ पानी की बोतल पास में रखें और बाहर का पानी पीने से बचें या केवल पैक किया हुआ पानी ही पिएं।
10. हमेशा एक हैंड सैनिटाइज़र रखें और इसे इस्तेमाल करें।
सिर्फ कुछ सावधानियां बरतकर मॉनसून के ख़राब अनुभव को ख़त्म किया जा सकता है। अगर आपको लगता है कि आपका बच्चा सुस्त या ज़्यादा सो रहा है। इसके अलावा उसे बुख़ार, उल्टी, दस्त, शरीर में चक्त्ते हैं, तो डॉक्टर को फौरन दिखाएं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it