लाइफ स्टाइल

जानें शरीर में कैसे बनते हैं ये 3 किडनी

Mahima Marko
10 March 2022 6:37 AM GMT
जानें शरीर में कैसे बनते हैं ये 3 किडनी
x
किडनी फेल या दान करने के बाद व्यक्ति एक किडनी के सहारे जिंदा रह सकता है। मगर, क्या आपने कभी सुना है कि किसी व्यक्ति के पास 3 किडनियां हो।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। किडनी फेल या दान करने के बाद व्यक्ति एक किडनी के सहारे जिंदा रह सकता है। मगर, क्या आपने कभी सुना है कि किसी व्यक्ति के पास 3 किडनियां हो। वैज्ञानिकों की मानें तो किसी व्यक्ति के शरीर में 3 किडनी मिलना कोई हैरानी की बात नहीं है। हर 100 में से एक व्यक्ति की 3 किडनी हो सकती है। हालांकि ऐसे लोग एकदम सामान्य और स्वस्थ जिंदगी जी सकते है।

शरीर में कैसे बन जाती हैं 3 किडनियां
तीन किडनी वाली दुर्लभ स्थिति को सुपरन्युमरी किडनी कहते हैं, जो डुपलेक्स मोइटिज बनने के कारण होती है। यह स्थिति गर्भावस्था में भ्रूण अवस्था में ही बन जाती है। इसके कारण एक किडनी 2 हिस्सों में बंट जाती है, जिससे शरीर के एक तरफ दो अलग-अलग किडनी विकसित होने लगती है।
बिना किडनी के भी जन्म लेते हैं बच्चे
हालांकि दुनिया में कई ऐसे रेयर केस भी सामने आते हैं, जिसमें बच्चे के शरीर में जन्म से ही एक या कोई किडनी नहीं होती। किसी विकार के कारण 3 हजार में 1 बच्चा एक या बिना किडनी के पैदा हो सकता है। एक किडनी के बिना तो बच्चा जीवन गुजार लेता है लेकिन बिना किडनी वाले शिशु मृत पैदा होते हैं या कुछ समय तक ही जिंदा रह पाते हैं।
नहीं दिखाई देता कोई लक्षण
1. ऐसा होने बिल्कुल सामान्य है इसलिए कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते। किसी तरह का एक्सीडेंट या जांच की स्थिति में 3 किडनी होने का पता चल पाता है।
2. प्रेगनेंसी में अल्ट्रासाउंड जांच के जरिए भी इस स्थिति का पता चलता है।
3. हालांकि कई बार बचपन से पेशाब लीक होना, दुर्गंध और खुजली की शिकायत जैसे संकेत दिख सकते हैं।
पेनकिलर्स से किया जाता है दर्द को कंट्रोल
रिपोर्ट केक मुताबिक, ऐसी स्थिति में व्यक्ति को किडनी वाले एरिया में दर्द रहता है लेकिन इसमें किसी तरह के ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं है। मरीज को दर्द के लिए सिर्फ पेनकिलर ही दी जाती है। हालांकि ऐसा स्थिति के आधार पर ही किया जाता है। अगर स्थिति गंभीर हो तो डॉक्टर ऑपरेशन द्वार एक किडनी निकाल देते हैं।
क्या प्रेगनेंसी पर पड़ता है कोई असर?
जब बच्चा गर्भाशय में स्थान घेरता है तो उसका असर किडनी पर भी दिखाई देता है। वहीं, तीसरी किडनी उस जगह के अन्य अंगों के विकास को भी प्रभावित करती है, जिससे कई समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में बेहतर होगा कि आप प्रेगनेंसी कंसीव करने से पहले इस बारे में डॉक्टर की राय लें। वहीं, अगर आपको किडनी से जुड़ी कोई बीमारी है तो भी कंसीव करने से पहले डॉक्टर से बात करें।
इन बातों का रखें ध्यान...
. बिना डॉक्टरी सलाह लिए एंटी-बायोटिक दवाएं खाने से बचें।
. ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखें क्योंकि इससे रक्त वाहिकाएं प्रभावित होती हैं, जिससे किडनी पर असर पड़ता है।
. शुगर का कम-ज्यादा होना भी किडनी पर असर डालता है इसलिए उसे भी कंट्रोल में रखें।
. जिस व्यक्ति के शरीर में एक या तीन किडनी हो उन्हें मार्शल आर्ट्स, कराटे या जोखिम भरे कामों से दूर रहना चाहिए।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta