लाइफ स्टाइल

जानिए ईटिंग डिसऑर्डर पिका के लक्षण और उपचार

Mahima Marko
22 Jun 2022 9:10 AM GMT
जानिए ईटिंग डिसऑर्डर पिका के लक्षण और उपचार
x
पिका वैसे तो एक बहुत ही अजीबो-गरीब बीमारी है, लेकिन ये सामान्य रूप से कई लोगों के अंदर पाई जाती है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पिका वैसे तो एक बहुत ही अजीबो-गरीब बीमारी है, लेकिन ये सामान्य रूप से कई लोगों के अंदर पाई जाती है. साइकियाट्री डॉट ओआरजीमें छपी एक रिसर्च के अनुसार, पिका डिसऑर्डर ज्यादातर गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चों में पाया जाता है. ज्यादातर छोटे बच्चे और प्रेग्नेंट औरतें मिट्टी और कई तरह की अन्य चीजें खाना शुरू कर देते हैं. पिका बीमारी हमारे खानपान से संबंधित होती है. जो लोग पिका से ग्रसित होते हैं, उनके मन में हमेशा नॉन फूड आइटम्स खाने की इच्छा होती रहती है, जैसे सूखे पेंट के टुकड़े, बर्फ, साबुन, बटन, चिकनी मिट्टी, रेत, सिगरेट के अवशेष, राख, रंग, चॉक आदि. पिका विकार शारीरिक कमजोरी के साथ-साथ एक मनोविकार होता है, जिसमें रोगी अनावश्यक चीजों को भी खा सकता है, जिससे शरीर में कई तरह की बीमारियां और जहर फैल सकता है. इस तरह इस प्रकार की चीजें खाने से गंभीर बीमारियां भी हो सकती है जैसे-

-फूड पाइप में चीजों का फंसना
-आंतों में इंफेक्शन होना
-बैक्टीरियल वायरस और पॉयजनिंग
-आयरन की कमी, एनीमिया
आमतौर पर पिका सामान्य उपचार से ठीक हो जाती है और कई बार यह स्वयं भी ठीक हो जाती है, लेकिन हर बार ऐसा होना ज़रूरी नहीं है. जिन लोगों की इम्यूनिटी पहले से ही कमजोर होती है, उनमें यह बीमारी लंबे समय तक भी रह सकती है.
ईटिंग डिसऑर्डर पिका के कारण
-पिक रोग कई कारणों से हो सकता है. कई बार आयरन, जिंक या अन्य पोषक तत्वों की कमी से हो सकता है.
-ओसीडी यानी (ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर) और सिज़ोफ्रेनिया जैसी मानसिक रोग भी पिका का कारण हो सकते हैं. ऐसे में रोगी को नॉन फूड आइटम्स खाने की आदत पड़ जाती है और उन्हें ऐसी चीजों में स्वाद आने लगता है.
-कई विशेषज्ञों का मानना है कुछ लोगो में पिका का कारण कुपोषण और डाइटिंग भी हो सकता है. ऐसा करने से रोगियों को पेट भरा हुआ महसूस होता है.
पिका रोग का निदान
-पिका के लक्षण नज़र आने पर आप तुरंत चिकित्सक की सलाह ले सकते है. शुरुआती समय में पिका आसानी से ठीक हो सकता है.
-शरीर में पिका के लक्षण शुरू होते हैं. आपको अपना ब्लड टेस्ट कराना चाहिए, ताकि उसमें शरीर के अंदर जो कमी है, उसका पता चल सके.
-आपको आपने खानपान में प्रोटीन, विटामिन जैसे सभी आवश्यक तत्वों को शामिल करना चाहिए.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta