लाइफ स्टाइल

जानिए योग दिवस से जुड़े रोचक तत्व के बारे में....

Mahima Marko
19 Jun 2022 12:43 PM GMT
जानिए योग दिवस से जुड़े रोचक तत्व के बारे में....
x
योग शरीर और मस्तिष्क की सेहत के लिए फायदेमंद होता है। योग आध्यात्मिक अभ्यास है जो शांति, आत्मविश्वास और साहस को बढ़ाता है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। योग शरीर और मस्तिष्क की सेहत के लिए फायदेमंद होता है। योग आध्यात्मिक अभ्यास है जो शांति, आत्मविश्वास और साहस को बढ़ाता है। योग के माध्यम से तन मन मस्तिष्क की गतिविधियों को और बेहतर तरीके से किया जा सकता है। योग एक ऐसा अभ्यास है, जो आपको कई तरह की बीमारियों से दूर रखता है। ऐसे में नियमित योगाभ्यास की सलाह दी जाती है। योग के महत्व को समझते हुए दुनियाभर को जागरूक करने के लिए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने की शुरुआत हुई। संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए प्रधानमंत्रा नरेंद्र मोदी ने प्रस्ताव रखा। जिसे मंजूरी मिलने के बाद 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा की गई। लेकिन योग दिवस 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है? इस दिन की शुरुआत को लेकर कई तथ्य आपको नहीं पता होंगे। चलिए जानते हैं योग दिवस से जुड़े रोचक तत्व के बारे में।

योग की शुरुआत
धार्मिक ग्रंथों के मुताबिक योग का पहला प्रसार भगवान शिव ने अपने 7 शिष्यों के बीच किया था। इन सातों ऋषियों को ग्रीष्म संक्रांति के बाद आने वाली पहली पूर्णिमा पर योग की दीक्षा दी गई, इस सभी को शिव के अवतरण के तौर पर माना जाता था।
योग दिवस का प्रस्ताव
योग दिवस को अंतरराष्ट्रीय तौर पर मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र संघ ने किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त महासभा में विश्व स्तर पर योग दिवस मनाने का आह्वान किया। योग के महत्व को समझते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने महज तीन महीने के अंदर स्वीकार कर लिया।
महज 3 महीने में प्रस्ताव पर मुहर
11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र की आम सभा ने इस प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए 21 जून की तारीख योग दिवस के लिए तय कर दी। 193 देशों में से 175 देशों ने बिना किसी मतदान के भारत के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। किसी प्रस्ताव को यूएन आम सभा में इतनी बड़ी संख्या में समर्थन बनना एक रिकॉर्ड है। बता दें कि इससे पहले किसी भी प्रस्ताव को इतने बड़े पैमाने पर समर्थन नहीं मिला था। पहली बार ऐसा हुआ कि किसी देश को यूएन असेंबली में सिर्फ 90 दिनों के भीतर स्वीकार कर लिया गया हो। यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है।
पहली बार विश्व योग दिवस की शुरुआत
विश्व स्तर पर योग दिवस को मनाने की शुरुआत 21 जून से हुई। पहली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया। पहला योग दिवस भारत में संचालित हुआ। पहले योग दिवस के मौके पर भारत में दो रिकॉर्ड बनाए गए। पहला भारत में 35 हजार से ज्यादा लोगों ने एक साथ राजपथ पर योगासन किया, दूसरा इस योग दिवस आयोजन में 84 देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए।
21 जून को ग्रीष्म संक्रांति
21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन भी कहते हैं। इस दिन को ग्रीष्म संक्रांति भी कहते हैं। इस दिन आम दिनों की तुलना में आज सूरज की किरणें ज्यादा देर तक धरती पर रहती हैं। इस कारण इसे बड़ा दिन माना जाता है। इस घटना के कारण ही 21 जून को योग दिवस भी मनाया जाता है। योग में इस घटना को संक्रमण काल कहते हैं। संक्रमण काल के दौरान योग करने से शरीर को बहुत लाभ मिलता है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta