लाइफ स्टाइल

प्रेग्नेंट महिला कोरोना से संक्रमित है तो क्या गर्भ में पल रहे बच्चे को भी कोविड का खतरा?

Tulsi Rao
15 Jan 2022 4:56 PM GMT
प्रेग्नेंट महिला कोरोना से संक्रमित है तो क्या गर्भ में पल रहे बच्चे को भी कोविड का खतरा?
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। Corona Infection In Pregnant Women: कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने लोगों को एक बार फिर से परेशान कर दिया है. देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. इस बार तीसरी लहर में ओमिक्रोन और कोरोना से संक्रमित बच्चों की संख्या ज्यादा है. 2 से 5 साल के बच्चों में संक्रमण काफी ज्यादा देखने को मिल रहा है. हालांकि बच्चों में अभी तक कोरोना के हल्के लक्षण ही नजर आ रहे हैं. वहीं प्रेग्नेंट महिलाओं के कोरोना संक्रमित होने के मामले भी सामने आ रहे हैं. ऐसे में बहुत सारे लोगों के मन में ये सवाल है कि क्या गर्भवती महिला से बच्चे को भी कोरोना हो सकता है.

जो महिलाएं प्रेग्नेंट हैं उन्हें इस बात का डर है कि अगर कहीं वो कोरोना से संक्रमित हुईं, तो उनके गर्भ में पल रहे बच्चे को भी संक्रमण हो सकता है. फिलहाल जिस तरह से संक्रमण फैल रहा है गर्भवती महिलाओं का डरना लाज़मी है. उन्हें ये डर सता सकता है कि क्या उनके कोरोना संक्रमण के शिकार होने के बाद उनकी कोख में पल रहे बच्चे भी संक्रमण हो सकता है. जानते हैं गर्भवती महिलाओं को क्या सावधानी बरतनी चाहिए.
क्या गर्भवती महिलाओं को COVID-19 होने का खतरा ज्यादा है?
गर्भवती महिलाओं की इम्यूनिटी दूसरे लोगों से कम हो जाती है. इसकी वजह है कि इस वक्त हमारा शरीर 2 लोगों को पोषण देने का काम कर रहा होता है. ऐसी कंडीशन में हमें कोई भी बीमारी दूसरों की अपेक्षा जल्दी प्रभावित कर सकती है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं के कोरोना से संक्रमित होने की संभावना भी बढ़ जाती है.
जैसा कि हम सभी को पता है कि कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं को भी दूसरे लोगों की तरह ही इस वायरस का खतरा है. पिछले दिनों कई ऐसे केस भी सामने आए हैं जिनमें प्रेग्नेंट महिलाओं में कोरोना के गंभीर लक्षण नज़र आए हैं.
क्या गर्भ में पल रहे बच्चे को भी कोरोना हो सकता है?
कोरोना वायरस की तीसरी लहर में युवा के साथ-साथ बच्चे भी तेजी से संक्रमित हो रहे हैं. गर्भवती महिलाओं को भी इस वायरस से खतरा है. हालांकि अभी तक इस बात के क्लीनिकल सबूत नहीं मिले हैं कि नवजात शिशु को पहले दिन कोरोना संक्रमित पाया गया हो. इससे पता चलता है कि मां से बच्चे के अंदर ये वायरस नहीं पहुंच रहा है.
हालांकि कोरोना से संक्रमित होने के बाद मां के स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है, लेकिन नवजात बच्चों पर अभी कोई ज्यादा असर नहीं दिख रहा है. कई रिसर्च में ये पाया गया है कि COVID-19 पॉजिटिव मां से पैदा होने वाले नवजात शिशु में केवल एक प्रतिशत संक्रमण होने का खतरा है.
क्या प्रेगनेंट महिला एंटीबॉडीज बच्चे को पास कर सकती है?
कई रिसर्च में ये पाया गया है कि गर्भवती महिला ने अगर कोरोना का वैक्सीन लगवाया है तो उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की इम्यूनिटी भी मजबूत रहती है. खासतौर से जब तक बच्चा मां का दूध पीता है. डॉक्टरों का भी कहना है कि एंटीबॉडीज को प्लेसेंटा के जरिए या ब्रेस्टमिल्क के माध्यम से ट्रांसफर किया जा सकता है. यही वजह है कि डॉक्टर्स गर्भवती महिलाओं को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it