लाइफ स्टाइल

बारिश के मौसम में बीमार पड़ने और अतिरिक्त वजन बढ़ने से बचने का अपनाये ये 5 फ़ूड

Mohit
5 Aug 2021 3:20 PM GMT
बारिश के मौसम में बीमार पड़ने और अतिरिक्त वजन बढ़ने से बचने का अपनाये ये 5 फ़ूड
x
ये एक ऐसा मौसम है जब ज्यादातर लोग कुछ मसालेदार और तली हुई चीजों के लिए तरसते हैं जो न केवल खतरनाक साबित हो सकता है बल्कि अनहेल्दी भी होता है और आपका वजन भी बढ़ा सकता है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- मानसून बीमारियों की बौछार के साथ आता है, हवा में नमी की वजह से जो कई हानिकारक सूक्ष्म जीवों के विकास और प्रसार को गति प्रदान करता है. ये एक ऐसा मौसम है जब ज्यादातर लोग कुछ मसालेदार और तली हुई चीजों के लिए तरसते हैं जो न केवल खतरनाक साबित हो सकता है बल्कि अनहेल्दी भी होता है और आपका वजन भी बढ़ा सकता है.

इसलिए, आप क्या खाते हैं, इस बारे में सतर्क रहना ही बारिश के मौसम में बीमार पड़ने और अतिरिक्त वजन बढ़ाने से बचने का एक तरीका है. इसलिए पेट के लिए हल्का भोजन करना अपच से बचने का सबसे अच्छा तरीका है और यहां हम बारिश के मौसम में अपने स्वास्थ्य और वजन की जांच करने के लिए विशेषज्ञों के जरिए सुझाए गए फूड आइटम्स की एक लिस्ट के साथ अपने डेली डाइट में शामिल करने का सुझाव दे रहे हैं.
सूप
हम आपको ठंडे दिन के दौरान कुछ गर्म और कुरकुरे नाश्ते के लिए तरसने के लिए दोष नहीं देते हैं. चाट और पकौड़े खाने के बजाय, इस मौसम में अपने नाश्ते के समय सूप का सेवन करें. सूप आपकी भूख को शांत कर सकते हैं और आपके शरीर की पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं. ये पचने में आसान और आपके पाचन तंत्र को हल्का करता है. अदरक, लहसुन और काली मिर्च के साथ सूप लेने की सलाह दी जाती है. स्वाद बढ़ाने के अलावा सूप इम्यूनिटी में भी सुधार कर सकते हैं और वजन घटाने के लिए एक हेल्दी डाइट भी हैं.
उबली हुई सब्जियां
भाप से सब्जियां नर्म हो जाती हैं लेकिन उनके ज्यादातर पोषक तत्व, विशेष रूप से पानी में घुलनशील कंपाउंड्स को बनाए रखते हैं जो गर्मी से आसानी से डैमेज हो जाते हैं-जैसे विटामिन सी. सब्जियों को भाप देने से उनमें से कीटाणुओं को हटाने में मदद मिलती है और ये बनावट और स्वाद को बनाए रखने में मदद करता है. दुनिया भर के डाइट एक्सपर्ट्स और हेल्थ एक्सपर्ट्स ब्रोकली, मशरूम, गाजर और टमाटर जैसी उबली हुई सब्जियों का सेवन करने की सलाह देते हैं.
स्मूदी और जूस
बरसात के मौसम में जूस का सेवन वर्जित है. उन्हें स्मूदी से बदलें. बनाने में आसान, स्मूदी आपको सुबह जल्दी एनर्जी प्रदान कर सकती है. चिया सीड्स को स्मूदी में शामिल करने से वजन कम करने के साथ-साथ इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आपके शरीर के लिए एनर्जी बूस्टर का काम कर सकता है. जरूरी पोषण के लिए खीरा, संतरा, आम, टमाटर जैसी सब्जियों का इस्तेमाल करें.
अदरक
अदरक को चमत्कारी मसाले के रूप में जाना जाता है. अदरक के साथ हर्बल चाय जैसे तुलसी अदरक की चाय और चुक्कू कप्पी आपको गर्म कर देंगे और आपकी इम्यूनिटी में सुधार करेंगे. ये क्रोमियम, मैग्नीशियम और जिंक का एक रिच सोर्स है जो ओवरऑल ब्लड फ्लो में सुधार करता है. इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो सर्दी और फ्लू से लड़ने में मदद करते हैं. मानसून के दौरान खांसी और कंजेशन एक आम समस्या है. अदरक के एक्सपेक्टोरेंट गुण फेफड़ों से बलगम को ढीला करते हैं. ये फेफड़ों के टिश्यूज को भी शांत करता है.
हल्दी
हल्दी इम्यूनिटी को बढ़ाने और संक्रमण को रोकने में अपनी भूमिका के लिए जानी जाती है. इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लामेट्री गुण होते हैं और इसे शुगर के लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए फायदेमंद माना जाता है. एक कप दूध में छोटी चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पीने से आप मानसून संबंधी बीमारियों से बच सकते हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it