Top
लाइफ स्टाइल

बच्‍चे को खून की कमी पर खूब खिलाएं आयरन, इन फूड्स को डाइट में करें शामिल

Kunti
10 Jun 2021 4:00 PM GMT
बच्‍चे को खून की कमी पर खूब खिलाएं आयरन, इन फूड्स को डाइट में करें शामिल
x
खून बनाने के लिए आयरन जरूरी होता है

खून बनाने के लिए आयरन जरूरी होता है और नन्‍हे शिशु के विकास में आयरन अहम भूमिका निभाता है। शरीर के अंदर हीमोग्‍लोबिन में आयरन पाया जाता है और अगर बच्‍चे को पर्याप्‍त मात्रा में आयरन न मिले, तो इससे बच्‍चे को एनीमिया की शिकायत हो सकती है.

बच्‍चे के लिए आयरन बहुत आवश्‍यक है क्‍योंकि इससे शरीर के कई अंगों को ठीक तरह से कार्य करने में मदद मिलती है। आयरन फेफड़ों से पूरे शरीर तक ऑक्‍सीजन को पहुंचाने में मदद करती है। आप 6 महीने से अधिक उम्र के शिशु को आहार की मदद से पर्याप्‍त मात्रा में आयरन की पूर्ति कर सकती है।
यहां हम आपको कुछ ऐसे नैचुरल तरीकों के बारे में बता रहे हैं जो बच्‍चे में आयरन की पूर्ति कर सकते हैं।
​क्‍यों होती है आयरन की कमी
खाने में आयरन की मात्रा कम होने, आयरन के खराब अवशोषण, खून बहने, 6 महीने पूरे होने के बाद भी शिशु को ठोस आहार खिलाना शुरू न करना, प्रीमैच्‍योर बेबी या लो बर्थ वेट की वजह से बच्‍चे को आयरन की कमी हो सकती है।
अगर बच्‍चे की स्किन, होंठ या हाथ पीले पड़ रहे हैं, उसे जल्‍दी थकान होने लगती है, दिल की धड़कन तेज हो गई है, भूख कम लगने, ग्रोथ धीमी होने, बार-बार इंफेक्‍शन होने, बहुत ज्‍यादा बाल झड़ने, सांस लेने में दिक्‍कत, पसीना ज्‍यादा आने जैसे लक्षण दिख रहे हैं, तो आपके बच्‍चे में आयरन की कमी हो सकती है।
इस कमी को आप नीचे बताए गए तरीकों से दूर कर सकती हैं।
​सेब और चुकंदर का जूस
सेब आयरन से भरपूर होता है और इसमें कई तरह के फ्रेंडली तत्‍व भी पाए जाते हैं। वहीं दूसरी ओर चकुंदर में भी उच्‍च मात्रा में फोलिक एसिड होता है साथ ही पोटेशियम और फाइबर भी होता है। आप बच्‍चे को सेब और चुकंदर को मिलाकर जूस बनाकर दें। आयरन के अवशोषण को बढ़ाने के लिए इसमें आप शहद भी डाल सकती हैं।
​अनार और टमाटर
अनार एक सुपर फ्रूट है और इसके स्‍वास्‍थ्‍य को कई लाभ मिलते हैं। अनार फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, फैट्स, प्रोटीन और शुगर से भरपूर होता है। इसमें कैल्शियम और आयरन भी होता है। यह हीमोग्‍लोबिन की मात्रा को बढ़ाती है और ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक रखती है। बच्‍चे को खाली पेट अनार का जूस दें।
टमाटर न सिर्फ आयरन की पूर्ति करता है बल्कि अन्‍य खाद्य पदार्थों से भी आयरन को अवशोषित करने की प्रक्रिया को बढ़ावा देता है।
लोहे के बर्तन
लोहे के बर्तनों में खाना बनाने से भोजन में आयरन की मात्रा बढ़ती है। इसके अलावा रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख दें और सुबह बच्‍चे को यह पानी पिलाएं। इससे शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्‍व मिलते हैं। अगर बच्‍चों को अभी से ही तांबे के बर्तन में पानी पीने की आदत होगी, तो आगे चलकर उनकी सेहत अच्‍छी रहेगी।
​विटामिन सी
विटामिन सी से युक्‍त चीजें खाने से खून में आयरन को बांधे रखने में मदद मिलती है। विटामिन सी की कमी के कारण खून में आयरन के अवशोषण में कमी आ सकती है। खट्टे फलों, स्‍ट्रॉबेरी, पपीता, अमरूद, आडू, पत्तागोभी, पालक और प्‍याज में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it