लाइफ स्टाइल

कोरोना होम टेस्ट किट का रिजल्ट बढ़ा न दें आपका तनाव

Bhumika Sahu
15 Jan 2022 3:46 AM GMT
कोरोना होम टेस्ट किट का रिजल्ट बढ़ा न दें आपका तनाव
x
कोरोना की घर में जांच करने वाली किट को आइसीएमआर ने भले ही मंजूरी दे दी है, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि ये किट भरोसेमंद नतीजे नहीं देती। इससे लोगों को बेवजह तनाव भी घेर सकता है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कोरोना की घर में जांच करने वाली किट को आइसीएमआर ने भले ही मंजूरी दे दी है, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि ये किट भरोसेमंद नतीजे नहीं देती। इससे लोगों को बेवजह तनाव भी घेर सकता है।

ऐसे इस्तेमाल होती है किट
जांच किट में स्वॉब स्टिक, एक सॉल्यूशन, एक टेस्ट कार्ड और टेस्ट कैसे करना है उससे मैनुअल होता है। स्वॉब स्टिक से पहले सैंपल लेते हैं, फिर उसे सॉल्यूशन के अंदर मिलाते हैं। बाद में टेस्ट कार्ड पर उसकी बूंद डाली जाती है। 15 मिनट में अगर टेस्ट कार्ड पर दो लाल लकीर दिखाई देती है तो रिजल्ट पॉजिटिव माना जाता है।
अलग-अलग कंपनियों की किट उपलब्ध
ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट के राष्ट्रीय सचिव संदीप नांगिया ने बताया कि बाजार में ऐसी सात अलग-अलग कंपनियों की किट उपलब्ध हैं। दिसंबर तक एक भी किट नहीं बिक रही थी, लेकिन जनवरी में रोज 12 से 15 हजार किट की बिक्री दिल्ली में हो रही है।
सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर जुगल किशोर के मुताबिक, आरटीपीसीआर जांच सबसे बेहतर है। उसमें भी 30 नतीजे गलत आ सकते हैं लेकिन इस जांच में अधिक नतीजे गलत आ सकते हैं। कई बार संभव है कि यह पॉजिटिव नतीजा बता दे जबकि व्यक्ति संक्रमित ही न हो। इससे जांच करने वाला शख्स तनाव में भी आ सकता है। हालांकि, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज की डॉक्टर सुनीला गर्ग के मुताबिक अब लोगों को टेस्ट के लिए लाइन में लगने और इंतजार की ज़रूरत नहीं है। इस टेस्ट किट से स्वास्थ्य तंत्र पर बोझ कम पड़ता है और कई दिनों तक रिपोर्ट का इंतजार भी नहीं करना पड़ता है।
जांच किट में निगेटिव,आरटीपीसीआर में आया पॉजिटिव
मयूर विहार में रहने वाले शुभम सिंह निजी कंपनी में काम करते हैं। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले 300 रुपये में एक मेडिकल स्टोर से जांच किट खरीदी थी। जांच करने में नतीजा निगेटिव आया तो ऑफिस चले गए। लेकिन, रास्ते में मेट्रो स्टेशन पर आरटीपीसीआर जांच हो रही थी। उन्होंने सैंपल दिया तो अगले दिन रिपोर्ट पॉजिटिव आई। शुभम कहते हैं कि इसका नतीजा भरोसेमंद न होने से कई दिक्कतें हो सकती हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it