लाइफ स्टाइल

जरूरत से अधिक इन चीजों का सेवन हो सकता है Breast Cancer का कारण

Bharti
25 Nov 2021 6:14 PM GMT
जरूरत से अधिक इन चीजों का सेवन हो सकता है Breast Cancer का कारण
x
दुनियाभर में कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी तेजी से फैल रही है। वहीं महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है

दुनियाभर में कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी तेजी से फैल रही है। वहीं महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है। इसके शुरुआती लक्षण पता चलने पर तो इलाज संभव हो सकता है। मगर 3rd या 4th स्टेज में यह बीमारी पहुंचने पर ये रोग जानलेवा हो सकता है। खबरों के मुताबिक हर साल लाखों की गिनती में ब्रेस्ट कैंसर से शिकार लोग अपनी जान गवां रहे हैं। एक्सपर्ट अनुसार, डेली डाइट में कुछ चीजों का सेवन कम या सावधानी से करने की जरूरत हैं। इससे कैंसर की चपेट में आने का खतरा कई गुणा कम हो सकता हैं। चलिए जानते हैं इन अनहेल्दी फूड्स के बारे में...

दूध और दूध से बने आहार
दूध सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। मगर आज के समय में कई जगहों पर दूध में मिलावट की जाती है। दूध को बढ़ाने के लिए जानवरों को केमिकल्स और हार्मोन्स के इंजेक्शन लगाए जाते हैं। मगर इसके कारण दूध शुद्ध नहीं रहता है। बता दें, ऑक्सीटोसिन और rGBH ऐसे केमिकल्स हैं, जिसके इंजेक्शन जानवरों को लगाने से वे ज्यादा मात्रा में दूध देते हैं। मगर ऐसा केमिकल्स वाला दूध पीने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता है। ये केमिकल्स शरीर में पहुंचकर सेल और डीएनए को नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं।
हानिकारक फैट्स का सेवन
शरीर के लिए फैट्स की भी जरूरत होती है। मगर हानिकारक फैट्स खाने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता है। ये हानिकारक फैट्स ज्यादातर प्रॉसेस्ड फूड्स में पाए जाते हैं। एक अध्ययन मुताबिक, खाद्य पदार्थों में मौजूद ट्रांस फैट से भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। ये फैट बिस्किट, फ्राइड फूड्स, डोनट्स, पेस्ट्रीज, केक, कुकीज और फास्ट फूड्स में सबसे अधिक होता है।
रेड मीट का सेवन
रेड मीट खाने से प्रोटीन व अन्य पोषक तत्व मिलते हैं। मगर एक्सपर्ट अनुसार, रेड मीट का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर की चपेट में आने का खतरा अधिक रहता है। दरअसल, प्रॉसेस्ड मीट में प्रिजर्वेटिव्स और नमक का इस्तेमाल अधिक होता है। इसके साथ ही इसमें हानिकारक फैट की मात्रा भी अधिक पाई जाती है। इसलिए इसका ज्यादा सेवन करने से बचना चाहिए।
वेजिटेबल ऑयल
एक्सपर्ट अनुसार, वेजिटेबल ऑयल यानि वनस्पति तेल का अधिक सेवन करने भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता है। इसके साथ ही सनफ्लावर ऑयल, सोयाबीन ऑयल, कॉर्न और अन्य वे चीजें, जिनमें पॉलीसैचुरेटेड फैट अधिक मौजूद होता है। उनके सेवन से ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा रहता है।
अधिक मात्रा में मीठी चीजों का सेवन करना
लोगों का मानना है कि अधिक मीठी चीजों का सेवन करने से डायबिटीज व मोटापा होने का खतरा रहता है। मगर इससे ब्रेस्ट कैंसर की बीमारी के चपेट में आने का भी खतरा रहता है। एक अध्ययन की मानें तो भारी मात्रा में मीठे का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर की आशंका 27% तक बढ़ जाती है। बता दें, चीनी में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक पाई जाती है। ऐसे में इसे खाने से खून में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। इसके कारण शरीर में इंसुलिन बढ़ने लगता है और ये शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ावा देने का काम करती हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it