लाइफ स्टाइल

जीरा खाने के फायदे इम्यूनिटी, बढ़ाने में मददगार

Dev upase
26 Nov 2021 7:43 AM GMT
जीरा खाने के फायदे इम्यूनिटी, बढ़ाने में मददगार
x

जीरा खाने के फायदे इम्यूनिटी, बढ़ाने में मददगार

भारतीय घरों में खाना अलग-अलग तरीके से बनाया जाता है। खाने में पड़ने वाले मसाले इसे स्वादिष्ट बनाते हैं।


जनता से रिश्ता वेबडेस्क | भारतीय घरों में खाना अलग-अलग तरीके से बनाया जाता है। खाने में पड़ने वाले मसाले इसे स्वादिष्ट बनाते हैं।
जैसे,
मिर्च (Chilli)
राई (Rye)
हल्दी (Turmeric)
गर्म मसाला (Garam Masala)
दालचीनी (Cinnamon)
आदि। ऐसा ही एक मसाला है जीरा (Cumin, Jeera)।
जीरा सब्जी में इस्तेमाल किया जाने वाला आम मसाला है। लेकिन जीरे का प्रयोग कई लोग दूसरे तरीकों से भी करते हैं।
इसका सेवन शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। इसलिए कई लोग तो इसे नियमित किसी न किसी रूप में खाते हैं।
इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही जीरा कई तरह से फायदेमंद होता है। इसलिए आज हम आपको जीरा खाने के स्वास्थ्य लाभ (health benefits of jeera) के बारे में बताएंगे।
जीरे के बारे में ये भी जानें
जीरे का वैज्ञानिक नाम क्यूमिनम सायमिनम है। संस्कृत में इसे 'जीरक' कहते हैं, जो कि एक फूल वाला पौधा है। देखने में यह सौंफ की तरह होता है।
इसके पौधे में फूल उगता है, जिसके बीजों को सुखाकर व्यंजनों में प्रयोग किया जाता है। इसे पीसकर या दाने के रूप में प्रयोग किया जाता है।
पार्स्ले फैमिली के इसके पौधे की ऊंचाई करीब 1.5 फीट होती है। इसके फलों को हाथों से तोड़ने के बाद सुखाया जाता है और उससे जीरा प्राप्त होता है। आइए अब जीरे के फायदों के बारे में भी जान लेते हैं।
1. वेट लॉस को प्रमोट करे
जीरा वजन कम करने की कोशिश करने वालों के लिए मददगार हो सकता है। मोटापा, हार्ट डिजीज (Cardiovascular Diseases), डायबिटीज (Diabetes) और पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis) रोग में भी यह फायदा करता है।
जीरे का सेवन एक्सरसाइज और बैलेंस डाइट के साथ वजन घटाने की प्रक्रिया को तेज कर सकता है। हर्बल दवा का प्रयोग करने से पॉजिटिव रिजल्ट मिले, इसलिए जीरा भी वजन घटाने का ट्रेडिशनल उपाय है। (1)
2015 में हुई 8 हफ्ते की एक रिसर्च के मुताबिक कुछ लोगों ने वजन कम करने के लिए दवा (Weight Loss Medication) और कुछ ने जीरे का सेवन किया।
परिणाम चौंकाने वाले थे। दवा का सेवन करने वालों के बराबर ही जीरा खाने वालों का भी वजन कम हुआ। साथ ही जीरे का सेवन करने वालों के इंसुलिन लेवल में भी कमी देखी गई। (2)
2014 के हुए एक और अध्ययन में पाया गया है कि मोटापे से ग्रस्त महिलाओं ने 3 महीने तक हर दिन दही में 3 ग्राम जीरा पाउडर का सेवन किया तो उनके वजन, कमर के साइज और फैट में काफी कमी आई।
एक अन्य अध्ययन से भी साफ हुआ कि जिन लोगों ने हर दिन 75 मिलीग्राम जीरे की खुराक ली, उन लोगों का प्लेसबो लेने वालों की तुलना में 3 पाउंड (1.4 किग्रा) वजन अधिक कम हुआ। (3)
2. डाइजेशन सही रखता है
डाइजेशन सही रखता है
सदियों से जीरे का मुख्य रूप से प्रयोग डाइजेशन सही करने में होता आ रहा है। शायद आपके घर में भी दादा-दादी पेट खराब होने पर जीरा खाने की सलाह देते हो।
दरअसल, जीरे में क्षारीय गुण पाए जाते हैं। अदरक (Ginger), अजवाइन के बीज (Celery Seed), अजवायन के फूल और सौंफ का उपयोग जीरा के साथ पेट फूलने (Flatulence) या अन्य समस्याओं में किया जाता है। (4)
कई स्टडी में भी यह साफ हो चुका है कि जीरा डाइजेशन को सही करने में भी मदद करता है। यह डाइजेस्टिव एंजाइम्स को बढ़ाकर पाचन को तेज कर सकता ह
3. इम्यूनिटी बढ़ाता है
जीरा आयरन और डाइट्री फाइबर का अच्छा सोर्स है। प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यून सिस्टम की कार्यक्षमता को बनाए रखने में जीरा फायदेमंद है। यह बीमारियों से लड़ता है और आपके बीमार पड़ने की आशंका को कम करता है। (6)
एक चम्मच जीरे में करीब 1.4 mg यानी आपकी रोजाना की जरूरत का 17.5% आयरन होता है। आयरन से भरपूर फूड के बारे में इस लिंक पर क्लिक कर जान सकते हैं।
जीरे में मौजूद इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करते हैं। (5)
4. कोलेस्ट्रॉल लेवल को सही करे
जीरे में एंटीऑक्सिडेंट के साथ फ्लेवोनॉयड्स होते हैं। वे लिपिड पेरोक्सीडेशन रोकते हैं, ये बदले में ऑक्सीडाइज्ड लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (ऑक्स-एलडीएल) (Oxidized के लेवल में कमी का कारण बनता है।
ऑक्स-एलडीएल का एक्युमुलेशन एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis) और कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary Heart Disease) से जुड़ा हुआ है। (7)
एक स्टडी के मुताबिक जिन लोगों ने 8 हफ्ते तक दिन में 2 बार जीरे का सेवन किया, उनमें अनहेल्दी ब्लड ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) में कमी देखी गई। इसलिए कह सकते हैं कि जीरा बैड यानी एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। (1)
5. स्ट्रेस को कम करे (
Reduces Stress)
जीरे का सेवन शरीर को तनाव (Stress) से भी लड़ने में भी मदद करता है। एक स्टडी से भी साफ हुआ है कि जीरा स्ट्रेस को कम कर सकता है। जब जीरे का अर्क का सेवन किया गया तो शरीर में स्ट्रेस को कम करने की तुलना में काफी कम तनाव प्रतिक्रिया थी। (8)
जीरा, एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) के रूप में काम करके स्ट्रेस के प्रभावों से लड़ने में मदद करता है। रिसर्चर्स ने जिन पर टेस्ट किया उनमें पाया कि विटामिन सी की तुलना में जीरा एक अधिक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट था।
6. जीरा खाने के अन्य फायदे (Other benefits of jeera)
जीरे में डैंड्रफ से निपटने के लिए एंटी-फंगल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। यह स्किन को हेल्दी रखने में भी काम आता है। यह स्किन से दाग-धब्बे भी दूर कर सकता है।
पेट दर्द और डायरिया जैसी समस्याओं में भी यह काफी हद तक मदद कर सकता है। हड्डियों और जोड़ों के दर्द से भी यह राहत देता है। एनीमिया से बचाव करने के लिए भी यह बेस्ट ऑप्शन है।
सर्दी, बुखार और डायबिटीज जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में भी यह अच्छा हर्ब है।
जीरा खाने के साइड इफेक्ट
रिसर्च बताती हैं कि जीरे का अर्क एंटीकोआगुलंट्स (Anticoagulants) यानी रक्त पतला करने वाली और हाइपोग्लाइसेमिक (मधुमेह विरोधी) दवाओं की एक्टिविटी को स्लो कर सकता है।
जीरे के कंपाउड हाइपोग्लाइसीमिया (ब्लड शुगर के स्तर में अचानक गिरावट) का कारण बन सकता है।
यह जड़ी बूटी मानव उपभोग के लिए सुरक्षित है, यहां तक कि इसकी हाई डोज से भी कोई नुकसान नहीं होता। लेकिन इसके तेल के अधिक सेवन से जलन पैदा हो सकती है।
ऐसे करें जीरे का सेवन
जीरा दुनियाभर के तमाम स्वादिष्ट व्यंजनों में डाला जाने वाला एक मसाला है। जीरा पाउडर का उपयोग करी, स्टॉज और सॉस बनाने में किया जाता है।
यदि आप भोजन में जीरे के बीज या पाउडर को शामिल करना पसंद नहीं करते तो विकल्प के तौर पर आप जीरा कैप्सूल भी खा सकते हैं। ये आसानी से मार्केट में उपलब्ध हो जाते हैं।
जीरे का तेल भी आप प्रयोग कर सकते हैं। इस तेल को सॉफ्टजेल्स के रूप में भी बेचा जाता है। काले जीरे (Nigella Sativa) का सेवन भी आप कर सकते हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it