मनोरंजन

केंद्र को SC की लताड़, पूछा- क्या आप गंभीर हैं…

Gulabi
16 Feb 2021 9:24 AM GMT
केंद्र को SC की लताड़, पूछा- क्या आप गंभीर हैं…
x
एसजी तुषार मेहता ने कहा कि काम चल रहा है.

ओवर द टॉप (OTT) प्लेटफॉर्म पर निगरानी और नियंत्रण के लिए उचित व्यवस्था बनाए जाने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा कि क्या आप इस मामले को गंभीरता से ले रहे हैं. एसजी तुषार मेहता ने कहा कि काम चल रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने छह हफ्तों में जवाब तलब किया है.


सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि स्पष्ट तौर पर बताएं कि अब तक क्या किया गया. याचिका में कहा गया है कि OTT प्लेटफॉर्म में लगातार ऐसे कार्यक्रम दिखाए जा रहे हैं जो सामाजिक और नैतिक मानदंडों के मुताबिक नहीं हैं. कुछ कार्यक्रमों में सैन्य बलों का भी गलत चित्रण किया गया है. याचिकाकर्ता ने कहा कि 4 महीने पहले मामले में नोटिस जारी हुआ था लेकिन अभी तक जवाब नहीं दाखिल किया गया.

दाखिल याचिका में बताया गया है कि केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय ने OTT प्लेटफार्म को उन बातों की एक सूची सौंपी थी, जिन्हें कार्यक्रमों में नहीं दिखाया जा सकता, लेकिन उसका पालन नहीं हो रहा है. सरकार ने OTT प्लेटफॉर्म्स के ऊपर ही खुद को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी सौंप दी. उन्होंने आत्मनियंत्रण के नाम पर एक संस्था बनाई है. नेटफ्लिक्स, अमेज़न प्राइम, हॉट स्टार, ऑल्ट बालाजी जैसे 15 बड़े प्लेटफॉर्म इसके सदस्य हैं.

प्रकाश जावड़ेकर ने किया था ऐलान

इससे पहले केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी OTT को लेकर बड़ा ऐलान किया था. उन्होंने कहा कि OTT पर चलने वाले कुछ सीरियल के बारे में बहुत शिकायतें आई हैं उसका संज्ञान लिया गया है. OTT की फिल्म, कार्यक्रम, डिजिटल अखबार पर प्रेस काउंसिल, केबल टेलीविजन, सेंसर बोर्ड का कानून लागू नहीं होता था. इनके संचालन के लिए जल्द ही सुचारू व्यवस्था की घोषणा की जाएगी. उन्होंने कहा कि OTT प्लेटफॉर्म के संचालन के लिए जल्द ही दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta