Top
मनोरंजन

रवीना टंडन ने 300 ऑक्सीजन सिलेंडर किए अरेंज, बोली- 'मदद का हाथ आगे बढ़ाएं'

Triveni
4 May 2021 3:52 AM GMT
रवीना टंडन ने 300 ऑक्सीजन सिलेंडर किए अरेंज, बोली- मदद का हाथ आगे बढ़ाएं
x
इस कोरोना (Covid-19) संकट में रवीना टंडन (Raveena Tandon) सक्रिय होकर काम कर रही हैं.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क| इस कोरोना (Covid-19) संकट में रवीना टंडन (Raveena Tandon) सक्रिय होकर काम कर रही हैं. वे ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर रही हैं और इस मुश्किल समय में लोगों तक मदद पहुंचा रही हैं. एक्ट्रेस के सोशल मीडिया पर मदद के लिए ढेरों मैसेज आ रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महामारी में लोगों की मदद करने के लिए, एक्ट्रेस ने अपने लोगों की एक टीम बनाई है. वे कहती हैं, 'जो हो रहा है, उस पर यकीन कर पाना मुश्किल है. यह एक विनाश की तरह है. अमीर लोग इंजेक्शन और ट्रीटमेंट के लिए पैसे चुका रहे हैं, पर आम आदमी की दुर्दशा की कल्पना करें! यह बहुत ही निराशाजनक है. इसलिए हमारे पास भारत के दोस्त और स्वयंसेवक हैं, जो रिक्वेस्ट पर जवाब दे रहे हैं.'

एक्ट्रेस आगे कहती हैं, 'ऑक्सीजन किट से लेकर ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स तक, हम हर संभव मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं. हममें से एक ट्वीट करता है और जैसे ही मदद उपलब्ध होती है, हम यह देखते हैं कि जरूरतमंद व्यक्ति तक मदद पहुंची है या नहीं. हम सभी अपने संसाधन इकट्ठा करने की कोशिश कर रहे हैं. हम लोगों से इस मुश्किल समय में, बाहर आकर मदद करने की अपील करते हैं.'

जैसे कि देश में ऑक्सीजन की कमी हुई और कोरोना (COVID-19) मामले बढ़े, रवीना टंडन ने सिलेंडरों से भरे एक ट्रक की व्यवस्था की, जो सीधे जरूरतमंदों तक पहुंचाए गए. वे बताती हैं, 'अस्पताल बहुत ज्यादा पैसे वसूल रहे हैं, इसलिए हम ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर रहे हैं, जो सीधे उन लोगों को भेजे जा सकते हैं, जो इसका खर्च नहीं उठा सकते. हम संक्रमण को रोकने के लिए, पुलिस और एनजीओ के संपर्क में हैं. दिल्ली भेजे जाने के लिए 300 ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार हैं.'
इन कठिन समय के दौरान, रवीना टंडन ने ऑक्सीजन सिलेंडरों के लिए दिल्ली के एक अस्पताल में डॉक्टरों की एक दलील का जवाब दिया. एक संवेदनशील घटना का जिक्र करते हुए, एक्ट्रेस ने कहा, 'जो लोग एक दूसरे को जानते भी नहीं हैं, वे जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं. मुझे पता है कि इस लड़की ने मुझे दिल्ली से यह कहते हुए मैसेज किया कि उसके पास एक अतिरिक्त सिलेंडर है और जब हमने को-ऑर्डिनेट्स को शेयर किया, तो उसने जाकर इसे डिलीवर कर दिया! लोग इस अवसर पर मदद के लिए आगे आ रहे हैं. हम वाकई में कुछ सुंदर होता देख रहे हैं.'
ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी में शामिल लोगों को आड़े हाथों लेते हुए रवीना कहती हैं, 'यह भी बीत जाएगा और एक बार ऐसा होता है, मुझे उम्मीद है कि ये कालाबाजारी करने वालों को पकड़ कर जांच के दायरे में लाया जाएगा. वे गिद्ध की तरह हैं, जो हमे खा रहे हैं.'


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it