मनोरंजन

PIA को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के लिए उड़ानें कर दीं निलंबित, प्रति टिकट के दाम हैं ढाई हजार डालर

Neha
14 Oct 2021 11:17 AM GMT
PIA को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के लिए उड़ानें कर दीं निलंबित, प्रति टिकट के दाम हैं ढाई हजार डालर
x
पाकिस्तान दूतावास के हस्तक्षेप के बाद ही उसे मुक्त किया गया था।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) ने गुरुवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के लिए उड़ानें निलंबित कर दीं, जिसका कारण तालिबान अधिकारियों द्वारा ज्यादा दखलंदाजी बताया गया। इसमें मनमाने तरीके से नियमों में बदलाव और कर्मचारियों को डराना शामिल था। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से काबुल से नियमित रूप से संचालित होने वाली एकमात्र अंतरराष्ट्रीय कंपनी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) है।

टिकट के दामों में कटौती के आदेश के बाद सेवा सस्पेंड की गई
तालिबान के कब्जे के बाद और अंतरिम सरकार के गठन के बाद काबुल से नियमित रूप से संचालित होने वाली एकमात्र अंतरराष्ट्रीय कंपनी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस है। तालिबान सरकार ने पिछले दिनों आदेश दिया था कि एयरलाइन के टिकटों की कीमतों में कटौती की जाए, उसके बाद पीआइए ने अपनी सेवा निलंबित कर दी।
पीआइए के एक प्रवक्ता ने कहा कि 'अफगान अधिकारियों की सख्ती के कारण हम आज से काबुल के लिए अपनी उड़ानों को स्थगित कर रहे हैं।' इससे पहले तालिबान ने पीआईए और अफगान वाहक काम एयर को चेतावनी दी थी कि जब तक वे टिकट की कीमतों में कटौती करने के लिए सहमत नहीं होते हैं, तब तक उनके अफगानिस्तान के लिए उड़ान का संचालन अवरुद्ध रहेगा क्योंकि अधिकांश अफगानों के लिए पहुंच से बाहर के स्तर तक पहुंच गया है।
इस्लामाबाद के लिए उड़ानों के प्रति टिकट के दाम हैं ढाई हजार डालर
अधिकांश अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस अब अफगानिस्तान के लिए उड़ान नहीं भरती हैं। काबुल में ट्रैवल एजेंटों के अनुसार, पाकिस्तानी राजधानी इस्लामाबाद के लिए पीआईए पर उड़ानों के टिकट 2,500 डालर तक बिक रहे हैं, जबकि पहले यह 120- 150 डालर था।
अफगान परिवहन मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि काबुल से इस्लामाबाद रूट पर टिकट कीमतों को 'इस्लामिक अमीरात' की जीत से पहले टिकट की शर्तों के अनुरूप समायोजित किया जाना चाहिए या उड़ानें रोक दी जाएंगी। इसने यात्रियों और अन्य लोगों से किसी को भी नियमों का उल्लंघन करने की रिपोर्ट करने का आग्रह किया था।
तालिबान का व्यवहार पाक अफसरों के साथ काफी डरावना
तालिबान के कब्जे के बाद एक लाख से अधिक पश्चिम देशों के नागरिकों और अफगानों को निकाला गया था। पिछले महीने काबुल हवाईअड्डे को फिर से खोलने के बाद से अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच उड़ानें काफी सीमित हो गई हैं।
पीआईए ने कहा कि जब से नई तालिबान सरकार बनी है, काबुल में उसके कर्मचारियों को नियमों और उड़ान अनुमतियों में अंतिम क्षणों में बदलाव और तालिबान कमांडरों के 'बेहद डराने वाले व्यवहार' का सामना करना पड़ा है। इसने कहा कि पाकिस्तान के प्रतिनिधि को काबुल में घंटों तक बंदूक की नोक पर रखा गया था और पाकिस्तान दूतावास के हस्तक्षेप के बाद ही उसे मुक्त किया गया था।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it