विश्व

इमरान खान की दूसरी पत्‍नी पत्रकार रेहम खान ने आलोचना की, कहा- पीएम की फैलाई गंदगी साफ करने को एकजुट हो आवाम

Neha Dani
1 April 2022 10:04 AM GMT
इमरान खान की दूसरी पत्‍नी पत्रकार रेहम खान ने आलोचना की, कहा- पीएम की फैलाई गंदगी साफ करने को एकजुट हो आवाम
x
मध्‍य एशिया के लोग यहां पर आकर पढ़ते थे। उन्‍होंने ये भी कहा कि अपने जीवन में उन्‍होंने इसको धूमिल होते देखा है।

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की दूसरी पत्‍नी पत्रकार रेहम खान ने उनकी कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने पाकिस्‍तान की जनता से कहा है कि उन्‍हें इमरान खान द्वारा देश में फैलाई गंदगी को साफ करने के लिए एकजुट होना चाहिए। रेहम ने इमरान खान के बारे में कहा कि अब वो इतिहास हैं। ऐसे में सभी को इस गंदगी को साफ करने के लिए एक साथ आना चाहिए। उन्‍होंने इमरान खान को नाकाम बताया है।

इमरान खान में नहीं समझ
रेहम ने यहां तक कहा है कि इमरान के पास नया पाकिस्‍तान बनाने लायक न तो समझ है और न ही काबलियत है। उन्‍होंने इमरान खान द्वारा दिए गए देश के नाम संबोधन का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि इसमें इमरान खान ने कहा कि उनके पास में अल्‍लाह का दिया सब कुछ था। पैसा, नाम, शोहरत, इज्‍जत। उन्‍होंने इस भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि इमरान ने खुद कहा कि उन्‍होंने बचपन में पाकिस्‍तान को आगे बढ़ते हुए देखा है। रेहम ने उनकी नीतियों की भी जमकर आलोचना की है
इमरान ने मानी थी गलती
बता दें कि इमरान खान वर्ष 2018 में नया पाकिस्‍तान बनाने का नारा देकर सत्‍ता में आए थे, लेकिन उनके पीएम बनने के बाद से देश की आर्थिक दुश्‍वारियों के दिन लगातार बढ़ते चले गए। देश पर विदेशों का कर्ज बेतहाशा बढ़ गया है। इसके अलावा देश में महंगाई लगातार रिकार्ड तोड़ रही है। देश में मुद्रास्‍फीति की दर लगातार बढ़ रही है। वहीं विपक्ष ने भी इमरान खान को सत्‍ता से हटाने के लिए मुहिम छेड़ रखी है। अपने एक इंटरव्‍यू में इमरान खान ने खुद माना था कि वो अपने वादे और नारे को हकीकत बनाने से चूक गए हैं।
महंगाई पर काबू नहीं पास सके इमरान
केउन्‍होंने ये भी माना था कि वो देश में बढ़ती महंगाई पर काबू नहीं पा सके। इसकी वजह से वो विपक्ष के निशाने पर आ गए। उनका कहना था कि सरकार की तरफ से इस बारे में बड़े फैसले नहीं लिए जा सके। अब नेशनल असेंबली में लाए विपक्ष के अविश्‍वास प्रस्‍ताव की वजह से इमरान खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उनके अपने ही लोग उनका साथ छोड़ रहे हैं। इसके बाद भी इमरान ने साफ कहा है कि वो इस्‍तीफा नहीं देंगे। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि विपक्ष उन्‍हें सत्‍ता से हटाने के लिए सांसदों की खरीद फरोख्‍त कर रहा है।
क्‍यों दें इस्‍तीफा
इमरान खान ने अपने भाषण में कहा कि किसी ने उनसे इस्‍तीफा देने को कहा। क्‍या मैं ऐसा करूं। मैंने बीस वर्ष तक क्रिकेट खेला है और आखिरी गेंद तक मैच खेला है। उन्‍होंने इस भाषण में देशवासियों से कहा कि आप देखेंगे कि मैं फिर से उभरकर वापस आउंगा। इस बात के भी कोई मायने नहीं हैं कि अविश्‍वास प्रस्‍ताव का नतीजा क्‍या निकलता है। मै मजबूती से बाहर आउंगा। इमरान खान ने सोमवाद दिए देश के नाम अपने संबोधन में कहा था कि पाकिस्‍तान अपना गौरव खो चुका है। अब एक नया पाकिस्‍तान है।
कभी तेजी से बढ़ रहा था देश
इमरान ने ये भी कहा कि मलेशिया के शहजादे एक समय उनके साथ पाकिस्‍तान में पढ़ते थे। दक्षिण कोरिया के लोग आकर पाकिस्‍तान को देखते थे और जानना चाहते हैं कि वो तेजी से कैसे आगे बढ़ रहा है। मध्‍य एशिया के लोग यहां पर आकर पढ़ते थे। उन्‍होंने ये भी कहा कि अपने जीवन में उन्‍होंने इसको धूमिल होते देखा है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta