मनोरंजन

सिद्धार्थ शुक्ला के निधन से जुड़ी बड़ी खबर, जानिए अब तक का बिग अपडेट

Janta Se Rishta Admin
2 Sep 2021 1:07 PM GMT
सिद्धार्थ शुक्ला के निधन से जुड़ी बड़ी खबर, जानिए अब तक का बिग अपडेट
x

फाइल फोटो 

पांच डॉक्टरों की टीम कर रही सिद्धार्थ का पोस्टमॉर्टम, कल हो सकता है अंतिम संस्कार

इंडस्ट्री के जाने-माने एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का 40 की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया. पूरी इंडस्ट्री सदमे में है. हाल ही में एक्टर के ट्रेनर ने बताया कि कुछ दिनों पहले सिद्धार्थ अच्छा महसूस नहीं कर रहे थे, जिसकी वजह से वह अच्छी तरह एक्सरसाइज भी नहीं कर पा रहे थे. सिद्धार्थ के ट्रेनर ने कहा कि वर्कआउट तो वो दो घंटे के लिए ही सिद्धार्थ करते थे लेकिन बीच में ब्रेक और रेस्ट करते-करते तीन से चार घंटे हो ही जाते थे. सिद्धार्थ मेरे केवल क्लाइंट ही नहीं थे बल्कि हमारे बीच एक गहरी दोस्ती भी थी. वे अक्सर अपने एक्सपीरियंस शेयर किया करते थे. दोस्त से भी बढ़कर भाई का दर्जा दिया था मैंने, हम दोनों ही एक अलग तरह की बॉन्डिंग शेयर करते थे.

मेरी आखिरी मुलाकात मेरे बर्थडे के दिन हुई थी. 24 अगस्त को मेरा जन्मदिन था. मेरे जन्मदिन में वो जिम आए, मुझे विश किया साथ ही ट्रेनिंग की और चले गए. मैं ट्रेनिंग के साथ-साथ एक्टिंग भी किया करता था. तो मैं 25 को भोपाल शूटिंग के लिए निकल रहा था. उन्होंने मेरी खूब खिंचाई भी की थी. कहा था कि तुम तो एक्टर बन जाओगे और मुझे टक्कर दोगे. मत जाओ शूटिंग, छोड़ो एक्टिंग. हमारी वर्कआउट 24 अगस्त ही लास्ट वर्कआउट थी. मैंने उनसे कहा कि मैं 30 को वापस आ जाऊंगा, तो सिद्धार्थ बोले मैं आपके असिस्टेंट की हेल्प से वर्कआउट कर लूंगा.

25 की सुबह वे जिम भी आए. मैं तो था नहीं, मेरा असिस्टेंट था. लेकिन उस दिन उन्होंने महज 20 मिनट के लिए ही वर्कआउट किया. वो कि मुझे अच्छा नहीं लग रहा है और मेरा मन नहीं है यह कह कर निकल गए. यह भी कहा कि सोनू आएगा, तो उसी के साथ करूंगा. बस 25 को ही वे आखिरी बार मेरे जिम आए थे. मैं तीन दिन पहले ही लौट हूं, कल रात ही सोच रहा था कि सिद्धार्थ को कॉल कर लेता हूं. मैं आ गया हूं वापस लेकिन मुझसे कॉल करना रह गया. कल रात को वाकई दो तीन बार ख्याल आया कि कॉल कर बोल दूं कि परसो से एक्सरसाइज करते हैं. बहुत मन था बात करने का, लेकिन उन्हीं के डर से कॉल नहीं किया क्योंकि अगर आज नहीं मिल पाऊंगा, तो वो गुस्सा करने लगेंगे.

सिद्धार्थ बहुत ही स्ट्रेट फॉरवर्ड रहे हैं. अगर उन्हें गुस्सा है, तो भी वो मुझसे जाहिर करते थे. वो मुझसे बहुत प्यार करते थे. उन्होंने कभी मेरा नाम नहीं लिया, हमेशा सर कहकर ही बुलाया है. हम रोजाना चार घंटे साथ ही गुजारते रहते थे. सुबह वो जिम के लिए आता है और शाम को रनिंग के लिए भी मैं उनके कंपाउंड जाया करता था. लॉकडाउन के दौरान उनका पेट निकल गया था. उसे ही कम करने के लिए उन्होंने रनिंग का भी सुझाया. हम उन्हीं की सोसायटी के गार्डन में ही दौड़ा करते थे. मैं अब भी विश्वास नहीं कर पा रहा हूं. मैं अस्पताल गया था. मेरी हिम्मत नहीं हुई उसे देखने की. वहां उनके जीजाजी और छोटी बहन है. इनवेस्टिगेशन अब भी जारी है, वे किसी को मिलने नहीं दे रहे हैं. कोई भी नहीं मिल सकता है. दीदी ने अस्पताल से मुझे सिद्धार्थ के घर जाने को कहा. दीदी ने कहा कि मैं जाकर मां की देखभाल करूं. मैं मम्मी के पास दो घंटे बैठा रहा.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta