जरा हटके

वैज्ञानिकों के लिए आज भी बनी है दुनिया की सबसे रहस्यमयी खोजें

Bharti sahu
10 Nov 2021 7:33 AM GMT
वैज्ञानिकों के लिए आज भी बनी है दुनिया की सबसे रहस्यमयी खोजें
x
दुनियाभर में वैज्ञानिकों और पुरातत्वविदों ने अतीत से जुड़ी कई अनसुलझी पहेलियों को सुलझाने का काम किया है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | दुनियाभर में वैज्ञानिकों और पुरातत्वविदों ने अतीत से जुड़ी कई अनसुलझी पहेलियों को सुलझाने का काम किया है। इनकी वजह से लोगों को प्राचीन दुनिया को बहुत हद तक समझने में कामयाबी मिली है। इनके वजह से सालों पहले इंसान क्या खाता था और उसकी जीवनशैली क्या थी। पुरातत्वविदों ने कई प्राचीन सभ्यताओं की भी खोज की है जिसकी वजह से हम जान पाए कि प्राचीन सभ्यताएं कैसी थीं और कितनी विकसित थीं। लेकिन कुछ ऐसे भी स्थान हैं जो अभी भी रहस्य हैं। इन पर भी पुरातत्वविद और वैज्ञानिक रिसर्च करने में लगे हैं। आईए जानते हैं कि कौन सी बड़ी खोज हैं जिनका रहस्य अभी तक अनसुलझा है।

एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म
लगभग 100 साल पहले एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म की खोज की गई थी जो प्राचीन दुनिया का बेहतरीन कैलकुलेटर है। लेकिन इसकी पहेली को सुलझाना अभी भी एक बड़ी चुनौती है। यह हाथ से चलने वाली 2000 साल पुरानी डिवाइस है जो ब्रह्मांड की चाल को दिखाती थी। यह उस समय तक खोजे गए पांच ग्रहों की चाल, चांद का बढ़ना-घटना और सूर्य-चंद्र ग्रहण भी, लेकिन सबसे बड़ा सवाल अभी भी यह है कि इसे किस तरह से बनाया गया। अभी भी यह समझना कठिन है। अब UCL के रिसर्चर्स मानते हैं कि इस रहस्य के कुछ हिस्से को उन्होंने सुलझा लिया है। उन्होंने बताया है कि इस डिवाइस को तैयार किया जा रहा है। इसको तैयार करने के बाद देखा जाएगा कि यह काम करती है या नहीं। अगर इसका रेप्लिका तैयार कर लिया जाता है, तो प्राचीन तकनीक से इसे दोहराने की कोशिश होगी
क्लियोपैट्रा
इतिहास में दुनिया की कई महिलाओं ने अपने शासन से मिसाल कायम की है। लेकिन इनमें से सबसे शक्तिशाली और मौत के बाद भी सबसे चर्चित रहीं मिस्र की क्लियोपैट्रा। जिनको सिर्फ खूबसूरती के लिए ही नहीं बल्कि उनके शासनकाल के लिए भी सराहा गया। उनकी मौत के बाद अधिकतर लोग उन्हें हुस्न के लिए मशहूर मानते रहे। क्लियोपैट्रा मूलरूप से कहां की रहने वाली थीं, इस बारे में ज्यादा ऐतिहासिक सबूत नहीं हैं। उनके मूल निवास को लेकर लोगों के विचार बंटे हुए हैं। कुछ लोग मानते हैं कि वह मेसेडोनिया से थीं जबकि कई लोगों का कहना है कि वह अफ्रीका से जुड़ी हुई थीं। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने आप को मिस्र की रानी के तौर पर स्थापित किया। वह टोलेमाइक साम्राज्य की आखिरी रानी बनीं और उनमें वह ऐसी पहली इंसान थीं जो मिश्र की भाषा बोलती थीं। उनका शासन इस बात का सबूत है कि वह सिर्फ सुंदर या आकर्षक ही नहीं थी बल्कि इससे कहीं ज्यादा चतुर थीं। रानी क्लियोपैट्रा से एक रहस्य जुड़ा है कि उनको मृत्यु के बाद कहां पर दफनाया गया था। यह अभी तक रहस्य है।
किन शी हुआन का मकबरा
चीन के पहले शासक किन शी हुआन का मकबरा भी दुनिया के लिए एक रहस्य है। जुब खुदाई की गई तो मकबरे में मिट्टी के बने कई सैनिक, घोड़े व अन्य वस्तुएं मिलीं। माना जाता है कि किन शी हुआन मृत्यु के बाद जीवन पर विश्वास करते थे। इसलिए ही उन्होंने टेराकोटा सेना बनवाई थी, लेकिन यह अभी तक रहस्य है कि ये मिट्टी के सैनिक राजा की सुरक्षा कर सकते थे। 210 ईसा पूर्व में चीनी सम्राट किन शी हुआन की हत्या की गई थी। करीब 2000 साल से यह जगह संरक्षित है। चीन की सरकार ने यहां रिसर्च पर भी रोक लगा रखी है।
अटलांटिस
अटलांटिस एक काल्पनिक द्वीप है। इसकी मौजूदगी को लेकर अभी तक इतिहासकारों में चर्चा जारी है। अटलांटिस शहर के सही स्थान को लेकर अलग-अलग मत प्रस्तुत किए गए हैं। माना जाता है कि इसकी पहली व्याख्या ग्रीक इतिहासकार प्लेटो ने 360 बीसी में की थी। कहा जाता है कि अटलांटिस शहर अपने समय का सबसे खुशहाल शहर था जो 10 हजार साल पहले समुद्र में डूब गया। अटलांटिस आज भी एक रहस्य बना हुआ है।
नाजका लाइन्स
पेरू में मौजूद नाजका लाइन्स किसी भी रहस्य से कम नहीं है। दक्षिणी पेरू में स्थित नाजका लाइन्स रेगिस्तान है जहां पहाड़ों पर कई आकृतियां बनाई गई है। ये आकृतियां किसने बनाई यह आज भी रहस्य है। कहा जाता है कि नाजका लाइन्स को 1920-30 के दशक में विमान से देखा गया था। माना जारा रहा है कि ऐसी छवियों को बनाने की संस्कृति करीब 1000 साल पुरानी है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta