जरा हटके

दुनिया की सबसे महंगी डायमंड जूलरी, कीमत जानकर लोगों का चकराया सर

Triveni
25 May 2021 9:01 AM GMT
दुनिया की सबसे महंगी डायमंड जूलरी, कीमत जानकर लोगों का चकराया सर
x
नीलामी तो बहुत देखी. उसके बारे में बहुत कुछ सुना होगा. ये भी सुना या देखा होगा कि किसी चीज की मुहमांगी कीमत दी गई.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क| नीलामी तो बहुत देखी. उसके बारे में बहुत कुछ सुना होगा. ये भी सुना या देखा होगा कि किसी चीज की मुहमांगी कीमत दी गई. लेकिन क्या आपने हांगकांग की उस नीलामी के बारे में सुना जहां एक जामुनी गुलाबी (purple pink) हीरे को मुंहमांगी कीमत मिली है. जी हां, इस खास हीरे ने रिकॉर्ड कायम कर लिया है. अब तक की सभी नीलामी में इसका स्थान सर्वोच्च है जिसे 29.3 मिलियन डॉलर की राशि मिली है.

अब इस हीरे का भी नाम जान लीजिए. इसका नाम है दि साकुरा. यह जापानी शब्द है जिसका अर्थ है चेरी ब्लॉजम यानी कि चेरी का खिलना. 'दि साकुरा' 15.8 कैरेट परपल पिंक डायमंड सेट है. इस हीरे को प्लेटिनम और गोल्ड रिंग लगाया गया है. यह जानकारी auction.house ने दी है जो यह सेल आयोजित करती है.
इस हीरे को 'फैंसी विविड' के क्लास में रखा गया है. इसके रंग और आकर्षण को देखते हुए इसे फैंसी की श्रेणी में रखा गया है. हालांकि इसका रंग चटख नहीं है और दूर से इसे नहीं देख सकते. इसका परपल पिंक कलर माइक्रोस्कोप से ही देखा जा सकेगा.
क्या है इसकी खासियत
हांगकांग में सेल आयोजित करने वाले संस्थान ने कहा है कि 'दि साकुरा' को रविवार को एक एशियन प्राइवेट खरीदार ने लिया है. संस्थान की ओर से खरीदारी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी गई है. 'दि साकुरा' के साथ 'दि स्वीट हार्ट' की भी नीलामी हुई है. यह 4.2 कैरेट फैंसी रिंग है जिसका आकार दिल की तरह है. इस रिंग की नीलामी 6.6 मिलियन डॉलर में हुई है. क्रिस्टी एशिया-पैसिफिक डिपार्टमेंट ऑफ जूलरी के चेयरमैन विकी सेक ने CNBC को बताया, परपल पिंक डायमंड रिंग की नीलामी से पता चलता है कि मार्केट में जेमस्टोन की भारी मांग है और यह आगे भी बनी रह सकती है.
तोड़ा सभी रिकॉर्ड
दि साकुरा नाम की जूलरी ने पिछले साल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है जिसमें 14.8 कैरेट परपल-पिंक डायमंड की एक जूलरी 27 मिलियन डॉलर में बिकी थी. इसका नाम था दि स्पीरिट ऑफ द रोज. इसकी नीलामी पिछले साल नवंबर में जिनेवा में हुई थी. इसे 27.8 कैरेट डायमंड से काट कर बनाया गया था. इस हीरे को 2017 में उत्तर-पूर्वी रूस के याकुटिया में खदान से निकाला गया था. इस हीरे के बारे में कहा जाता है कि रूस में खनन कर निकाले गए हीरों में यह सबसे बड़ा था.
रूस से खास नाता
'दि स्पीरिट ऑफ द रोज' कट डायमंड की जूलरी को नाम दिया गया जिसके पीछे बड़ी कहानी है. रूस और पोलैंड की मशहूर बैले डांसर वसलाव निजिंक्सकी के नाम इस डायमंड जूलरी का नाम दिया गया. उनके अंतिम डांस के बाद इस जूलरी का नाम निजिंस्की के नाम पर रखा गया. उनके स्टेज परफॉरमेंस का नाम भी स्पीरिट ऑर द रोज था. एक आंकड़े के मुताबिक, महज 1 परसेंट डायमंड जूलरी ही 10 कैरेट से ऊपर की होती है और उसमें भी 4 परसेंट की ग्रेडिंग होती है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta