जरा हटके

मंदिर में आराम से सो रहा था शख्स, फिर अचानक बिस्तर में नजर आया कोबरा सांप

Subhi
16 Sep 2021 2:02 AM GMT
मंदिर में आराम से सो रहा था शख्स, फिर अचानक बिस्तर में नजर आया कोबरा सांप
x
सोशल मीडिया पर काफी वीडियोज वायरल होते हैं. कुछ मजेदार होते हैं तो कुछ हैरान कर देने वाले. अब एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है |

सोशल मीडिया पर काफी वीडियोज वायरल होते हैं. कुछ मजेदार होते हैं तो कुछ हैरान कर देने वाले. अब एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसको देख आपके रोंगटे जरूर खड़े हो जाएंगे. दरअसल, एक शख्स मंदिर में गहरी नींद में और चादर ओढ़कर सो रहा होता है. कुछ समय बाद एक कोबरा सांप फर्श पर रेंगता हुआ आता है और शख्स की चादर में घुस जाता है. इस दौरान लड़का काफी गहरी नींद में होता है, जिसके चलते उसे सांप का जरा भी अहसास नहीं होता है.

ये मामला राजस्थान के बांसवाड़ा के मंदारेश्वर महादेव मंदिर परिसर का है. ये घटना मंदिर में करीब रात 12 बजे घटी थी. इसका सबूत सीसीटीवी में रिकॉर्ड हुई क्लिप है, जो अब तेजी से वायरल हो रही है. इस शख्स का नाम जय उपाध्याय बताया जा रहा है जो कुछ दिनों से मंदिर में सो रहा है, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जब जय को यह अहसास हुआ कि उनकी चादर में सांप है तो उनके होश उड़ गए.
मीडिया से बात करते हुए जय ने बताया कि- ये घटना रविवार रात की है. उस रात मैं मंदिर परिसर में फर्श पर चटाई बिछा कर सो रहा था. रात 12 बजे के करीब मुझे मेरे बिस्तर में कुछ अजीब सा एहसास हुआ. तो मैंने करवट बदली और सो गया. जिसके कुछ देर बाद मुझे फिर अजीब सा लगा. वह सांप मेरे पैर के नीचे दब गया था. अचानक मैंने कंबल फेंका और खड़ा हुआ तो कोबरा सांप मेरे बिस्तर में नजर आया, जिसको देख मैं काफी घबरा गया था. मैं आपको बता दूं काफी समय तक वो सांप मेरी चादर में था, लेकिन उसने मुझे कोई नुकसान नहीं पहुंचाया.'
जय ने आगे बताया कि उन्हें लगता है कि भगवान महादेव ने उन्हें दर्शन दिए थे और उस द‍िन रात 12 बजे के बाद रव‍िवार खत्म होकर सोमवार हो चुका था. सोमवार वैसे भी भगवान शिव का दिन होता है. आपको बता दें कि वो अपनी आस्था के कारण मंदिर में रोज सोते थे. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो को देख कई लोग भगवान का दर्शन देना बता रहे हैं, तो कई का कहना है कि शुक्र है, लड़का सांप के काटने से बाल-बाल बच गया.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta