जरा हटके

40 पर पहुंच गया था महिला का ऑक्सीजन लेवल, बचना था मुश्किल, फिर डॉक्टर के इस फैसले से मिला नया जीवन

Gulabi
19 May 2021 4:30 PM GMT
40 पर पहुंच गया था महिला का ऑक्सीजन लेवल, बचना था मुश्किल, फिर डॉक्टर के इस फैसले से मिला नया जीवन
x
‘इस तरह महिला को मिली नई जिंदगी’

पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस से जूझ रहा है. आलम ये है कि यह महामारी लगातार बढ़ती जा रही है. हर दिन लाखों की संख्या में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. वहीं, हजारों की संख्या में लोग मर रहे हैं. हॉस्पिटल में मरीजों का जमावड़ा लगा हुआ है और हजारों लोग हर दिन जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं. इन सबके बीच एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसने लोगों को हैरान कर दिया है. आखिर, हैरानी हो भी क्यों ना? क्योंकि, एक महिला का ऑक्सीजन लेवल 40 पर पहुंच गया था इसके बाद भी वह बच गई. तो आइए, जानते हैं कि आखिर मामला क्या है?


झारखंड के रांची स्थित बहु बाजार की रहने वाली 57 साल की महिला का बचना मुश्किल था. लेकिन, डॉक्टर्स ने ऐसा 'चमत्कार' किया, जिससे उसे नई जिंदगी मिल गई. दरअसल, महिला जब कोरोना पॉजिटिव निकली तो उसकी हालत उतनी खराब नहीं थी. लेकिन, समय के साथ उसकी स्थिति लगातार बिगड़ती गई. महिला को रांची के सदर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. महिला की स्थिति का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि उसका ऑक्सीजन लेवल 40 पर पहुंच गया. ऐसा माना जाता है कि यहां से किसी का बचना संभव नहीं होता है. लेकिन, डॉक्टर्स ने महिला को लेकर बड़ा रिस्क लिया और उसे दोबारा नई जिंदगी दे दी.

'इस तरह महिला को मिली नई जिंदगी'
सबसे पहले महिला को वेंटिलेटर पर शिफ्ट करने के बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ. इसके बाद डॉक्टर्स ने महिला को बचाने के लिए मुंह के रास्ते ट्यूब डालकर उन्हें इनवेसिव वेंटिलेटर पर डाल दिया. यह तरीका बेहद कठिन था. हॉस्पिटल में इस तरीके का इस्तेमाल किसी पर नहीं किया गया था. लेकिन, इस तरीके से महिला की जिंदगी बच गई. डॉक्टर्स के इस प्रयास से महिला का ऑक्सीजन लेवल 40 से सीधे 93 पर पहुंच गया. फिलहाल, महिला का इलाज चल रहा है और वह अब खतरे से बाहर है. कहा यह भी जा रहा है कि इससे डॉक्टर्स को भी खतरा हो सकता था. लेकिन, डॉक्टर्स ने जान की परवाह बिल्कुल नहीं की.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta