जरा हटके

चीन के लोगों की नई सनक! बच्चों को लगवा रहे 'मुर्गे के खून' का इंजेक्शन, मानते हैं कोरोना वायरस के लिए भी फायदेमंद

Tulsi Rao
27 Nov 2021 10:06 AM GMT
चीन के लोगों की नई सनक! बच्चों को लगवा रहे मुर्गे के खून का इंजेक्शन, मानते हैं कोरोना वायरस के लिए भी फायदेमंद
x
The new craze of the people of China! Injection of 'chicken blood' being given to children, believe it is also beneficial for corona virus

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। चीन के वुहान शहर (Wuhan) से फैला कोरोना वायरस (Corona Virus) आज पूरी दुनिया में अपना आतंक फैला रहा है. कहा जाता है कि चीन के लोगों के उल्टे-सीधे खान-पान की वजह से कई बीमारियों का जन्म होता है. अपने अजीबोगरीब खान-पान की वजह से चीन दुनियाभर के निशाने पर रहता है. अब चीन के लोगों में एक नई सनक सवार है.

मुर्गे के खून का इंजेक्शन
सिंगापुर पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के लोगों में अब अपने बच्चों को 'मुर्गे के खून' का इंजेक्शन (Chicken Blood Injections) लगवाने की सनक सवार है. क्या हुआ? चौंक गए न आप! भले ही यह बात सुनकर आपको यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह पूरी तरह सच है. चीन के लोग बिना किसी बीमारी के भी अपने बच्चों को मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहे हैं
अब आपको बताते हैं कि चीन के लोग आखिर ऐसा कर क्यों रहे हैं? दरअसल, चीन के लोगों का मानना है कि ऐसा करने से उनके बच्चे की स्वास्थ्य से संबंधित सारी समस्याएं जड़ से खत्म हो जाएंगी. इसके अलावा वह अपने बच्चों को 'सुपर किड' बनाना चाहते हैं. इसलिए ऐसा अजीबोगरीब काम कर रहे हैं. चीन में यह काफी दिनों से चल रहा है.
कैंसर और गंजेपन से छुटकारे का दावा
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अपने बच्चों को फुर्तीला और उनके शरीर को ताकतवर बनाने के लिए चीनी मां-बाप उनको मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहे हैं. चीन के लोग 'मुर्गे के खून' को लेकर कई तरह के दावे भी कर रहे हैं. उनका कहना है कि इंजेक्शन लगवाने से कैंसर और गंजेपन की समस्या से भी छुटकारा मिल सकता है.
इसके अलावा चीनी लोग इसे कोरोना वायरस के लिए भी फायदेमंद मान रहे हैं. चीन के लोगों का मानना है कि मुर्गे के खून में स्टेरॉयड पाया जाता है. बच्चों को पढ़ाई तथा खेलकूद में स्टेरॉयड तेज बनाता है. इसी वजह से चीन में बच्चों को यह इंजेक्शन लगवाने की होड़ मची हुई है. यहां दूसरों को ऐसा करता देख हर मां-बाप अपने बच्चे को मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहा है. चीन के वुहान शहर (Wuhan) से फैला कोरोना वायरस (Corona Virus) आज पूरी दुनिया में अपना आतंक फैला रहा है. कहा जाता है कि चीन के लोगों के उल्टे-सीधे खान-पान की वजह से कई बीमारियों का जन्म होता है. अपने अजीबोगरीब खान-पान की वजह से चीन दुनियाभर के निशाने पर रहता है. अब चीन के लोगों में एक नई सनक सवार है.
मुर्गे के खून का इंजेक्शन
सिंगापुर पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के लोगों में अब अपने बच्चों को 'मुर्गे के खून' का इंजेक्शन (Chicken Blood Injections) लगवाने की सनक सवार है. क्या हुआ? चौंक गए न आप! भले ही यह बात सुनकर आपको यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह पूरी तरह सच है. चीन के लोग बिना किसी बीमारी के भी अपने बच्चों को मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहे हैं.
अब आपको बताते हैं कि चीन के लोग आखिर ऐसा कर क्यों रहे हैं? दरअसल, चीन के लोगों का मानना है कि ऐसा करने से उनके बच्चे की स्वास्थ्य से संबंधित सारी समस्याएं जड़ से खत्म हो जाएंगी. इसके अलावा वह अपने बच्चों को 'सुपर किड' बनाना चाहते हैं. इसलिए ऐसा अजीबोगरीब काम कर रहे हैं. चीन में यह काफी दिनों से चल रहा है.
कैंसर और गंजेपन से छुटकारे का दावा
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अपने बच्चों को फुर्तीला और उनके शरीर को ताकतवर बनाने के लिए चीनी मां-बाप उनको मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहे हैं. चीन के लोग 'मुर्गे के खून' को लेकर कई तरह के दावे भी कर रहे हैं. उनका कहना है कि इंजेक्शन लगवाने से कैंसर और गंजेपन की समस्या से भी छुटकारा मिल सकता है.
इसके अलावा चीनी लोग इसे कोरोना वायरस के लिए भी फायदेमंद मान रहे हैं. चीन के लोगों का मानना है कि मुर्गे के खून में स्टेरॉयड पाया जाता है. बच्चों को पढ़ाई तथा खेलकूद में स्टेरॉयड तेज बनाता है. इसी वजह से चीन में बच्चों को यह इंजेक्शन लगवाने की होड़ मची हुई है. यहां दूसरों को ऐसा करता देख हर मां-बाप अपने बच्चे को मुर्गे के खून का इंजेक्शन लगवा रहा है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta