जरा हटके

बंद कमरे में मासूम को छोड़कर 4 दिन तक पार्टी करती रही मां, भूख से तड़पकर बच्चे की मौत

Gulabi
13 Jun 2021 6:38 AM GMT
बंद कमरे में मासूम को छोड़कर 4 दिन तक पार्टी करती रही मां, भूख से तड़पकर बच्चे की मौत
x
एक मां के लिए अपने बच्चों से ज्यादा कोई भी प्यारा नहीं होता है

एक मां के लिए अपने बच्चों से ज्यादा कोई भी प्यारा नहीं होता है. मां बच्चों के​ लिए कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार रहती है. लेकिन रूस की एक महिला ने अपने बच्चों के साथ ऐसा कुछ किया जिसे जानकर आप उसे मां कहने से भी कतराएंगे. शायद आपको यकीन ही न हो कि आखिर इतना बुरा कोई मां कैसे कर सकती है. जी हां, अपने दोस्तों के साथ पार्टी करने के लिए एक महिला ने अपने 11 माह के मासूम बेटे और तीन साल की बेटी को घर में कैद कर दिया था. चार दिन तक भूख से तड़पने के बाद बेटे की पालने में ही मौत हो गई.

रूस के ज्लाटाउस्ट की रहने वाली 25 साल की ओल्गा बाजरोवा (Olga Bazarova) अपने पति से अलग रहती हैं. वो अपने 11 महीने के बेटे सेवली और 3 साल की बेटी को घर में बंद करके पार्टी करने चली गयीं थी. ओल्गा पार्टी और मौज-मस्ती में इतना खो गयीं कि चार दिनों तक घर वापस ही नहीं आई. उन्हें इस बात का होश ही नहीं रहा कि उनके बच्चे इस दौरान फ्लैट में अकेले बंद थे. ओल्गा ने बच्चों के बारे में कोई जानकारी नहीं ली. जब वो घर वापस आईं तो उन्होंने देखा कि उनका 11 महीने का बेटा भूख-प्यास के कारण दम तोड़ चुका था.
बच्चों को मारने का कोई इरादा नहीं था
वहीं दूसरी ओर उनकी 3 वर्षीय बेटी की हालत भी नाजुक थी. खाना ना मिलने के कारण वो काफी कमजोर हो चुकी थी. घर जाने के दौरान ओल्गा ने बच्चों की दादी को कॉल किया था. बाद में जब दादी घर पहुंची तो वहां का नजारा देखकर दंग रह गईं. उन्होंने पुलिस को बुलाया, जिसके बाद ओल्गा को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने ही ओल्गा की बेटी को तुरंत अस्पताल पहुंचाया. ज्लाटौस्ट शहर की एक अदालत ने इस मामले में सुनवाई करते हुए ओल्गा बजरोवा को नाबालिग की हत्या का दोषी पाया. अदातल में ओल्गा ने कहा कि उन्हें अपने बच्चों को छोड़ने का पछतावा है, लेकिन बच्चों को मारने का उसका कोई इरादा नहीं था.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta