Top
जरा हटके

दूल्हे ने दहेज लेने से किया मना, फिर भी ससुराल वालों ने दिया लाखों का गिफ्ट

Gulabi
21 July 2021 3:18 PM GMT
दूल्हे ने दहेज लेने से किया मना, फिर भी ससुराल वालों ने दिया लाखों का गिफ्ट
x
ससुराल वालों ने दिया लाखों का गिफ्ट

भारतीय परिवारों में दहेज (Dowry System) प्रथा सदियों से चली आ रही है. लेकिन बदलते वक्त के साथ ऐसे कई परिवार हैं, जिनमें इस प्रथा को धीरे-धीरे खत्म किया जा रहा है. आज की युवा पीढ़ी इतना स्मार्ट और समझदार हो गई है कि शादी के समय दूल्हा-दुल्हन (Bride Groom) खुद ही इस कुप्रथा के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर लेते हैं. कैच न्यूज (Catch News) में छपी एक खबर (Viral News) की मानें तो पश्चिम बंगाल में हुई एक शादी (West Bengal Wedding) में दूल्हे ने दहेज लेने से मना कर दिया था तो ससुरालवालों ने कुछ ऐसा किया, जिससे दूल्हे की आंखें खुली की खुली रह गईं.

दूल्हे ने दहेज लेने से किया मना
कुछ जगहों पर आज भी लड़के वालों की तरफ से भारी दहेज की मांग की जाती है. मांग न पूरी होने पर कई बार दुल्हन को टॉर्चर करने और मार देने तक की खबरें वायरल (Viral News) होती रहती हैं लेकिन पश्चिम बंगाल की यह खबर (West Bengal News) बिल्कुल अलग है. पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में रहने वाले सूर्यकांत बरीक पेशे से शिक्षक हैं. उनकी शादी पूर्वी मिदनापुर की रहने वाली प्रियंका बेज से हुई है. सूर्यकांत ने अपनी शादी से पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वे दहेज बिल्कुल भी नहीं लेंगे
बारात पहुंचने पर मिला सरप्राइज
दूल्हे राजा के मना कर देने के बावजूद लड़की के परिवार वाले दूल्हे को कुछ यादगार गिफ्ट (Wedding Gift) देना चाहते थे. इसलिए उन्होंने सूर्यकांत की बात मानते हुए गाड़ी या जेवर देने के बजाय कुछ और गिफ्ट तैयार करवा दिया. वे जब बारात लेकर विवाह स्थल (Wedding Venue) पर पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर हैरान रह गए थे. दुल्हन के परिवार वालों ने उन्हें ऐसी चीज दी थी, जिसके बारे में उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था. उनके ससुराल वालों ने दहेज के रूप में एक लाख रुपये की एक हजार किताबें (Books) दी थीं.
मेहमान भी लाए किताबें
दूल्हे को रबींद्रनाथ टैगोर, शरत चंद्र चट्टोपाध्याय, बंकिम चंद्र चटर्जी जैसे नामी बंगाली लेखकों की किताबें दी गई थीं. इनके साथ ही उसमें हैरी पॉटर सीरीज (Harry Potter Series) की किताबें भी थीं. दुल्हन के परिवार ने ये किताबें 150 किलोमीटर दूर से मंगवाई थीं. इस शादी में आने वाले मेहमानों से भी अपील की गई थी कि वे कीमती गिफ्ट (Wedding Gift) के बजाय दूल्हा-दुल्हन (Bride Groom) को किताबें ही गिफ्ट करें.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it