जरा हटके

जानिए भारत के सबसे खौफनाक रेलवे स्टेशन के बारे में, सन्नाटा इतना की अटक जाती हैं सांसे

Gulabi
21 May 2021 5:32 AM GMT
जानिए भारत के सबसे खौफनाक रेलवे स्टेशन के बारे में, सन्नाटा इतना की अटक जाती हैं सांसे
x
भारत के सबसे खौफनाक रेलवे स्टेशन

भारत में हजारों रेलवे स्टेशन (Railway Stations In India) हैं, जहां रोजाना लाखों यात्री सफर करते हैं. जहां कुछ रेलवे स्टेशन (Railway Station) बेहद खूबसूरत लगते हैं, वहीं कुछ बहुत डरावने लगते हैं. इन रेलवे स्टेशन के लिए डरावना शब्द भी कम पड़ जाएगा. दरअसल, ये भूतिया रेलवे स्टेशन (Most Haunted Railway Stations In India) के तौर पर मशहूर हैं. यहां जाना लोगों की मजबूरी बेशक हो सकती है लेकिन जरा सी देर में ही उनकी रूह कांपने लग जाती है. शाम होते-होते इन स्टेशनों पर बिल्कुल सन्नाटा पसर जाता है. जानिए भारत के सबसे खौफनाक रेलवे स्टेशन (Most Haunted Railway Stations In India) के बारे में.


उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) में स्थित नैनी जंक्शन रेलवे स्टेशन (Naini Junction Railway Station) को भी भूतिया कहा जाता है. रेलवे स्टेशन (Railway Station) के नजदीक ही नैनी जेल (Naini Jail) भी है. इस जेल में देश की आजादी में अहम योगदान देने वाले कई स्वतंत्रता सेनानी (Freedom Fighter) बंद थे, जिन्हें यहां कई तरह की भीषण यातनाओं का सामना करना पड़ा था. जेल में बंद कई स्वतंत्रता सेनानी तो यातनाओं की वजह से मारे गए थे. बताया जाता है कि इस रेलवे स्टेशन पर उन्हीं स्वतंत्रता सेनानियों की आत्माएं घूमती हैं.


महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजधानी मुंबई (Mumbai) में स्थित मुलुंड रेलवे स्टेशन (Mulund Railway Station) देश के भूतिया रेलवे स्टेशनों (Most Haunted Railway Station) में गिना जाता है. इस रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों और आस-पास रहने वाले लोगों का दावा है कि उन्हें यहां लोगों के चीखने-चिल्लाने के साथ-साथ रोने की भी आवाजें सुनाई देती हैं. उनका कहना है कि ये आवाजें उन लोगों की हैं, जो इस रेलवे स्टेशन की लाइनों को पार करते वक्त हादसे का शिकार हो गए थे.


देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों (Most Horror Railway Station) की लिस्ट में आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के चित्तूर जिले में स्थित चित्तूर रेलवे स्टेशन (Chittoor Railway Station) का नाम भी शामिल है. स्टेशन के आस-पास रहने वाले लोगों का कहना है कि एक बार इस स्टेशन पर सीआरपीएफ (CRPF) का जवान हरी सिंह ट्रेन से उतरा था. ट्रेन से उतरने के बाद उसे आरपीएफ और टीटीई ने मिलकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई थी. उसके बाद से ही सीआरपीएफ जवान हरी सिंह की आत्मा इंसाफ के लिए इस रेलवे स्टेशन (Railway Station) पर ही भटकती रहती है.


हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सोलन (Solan) जिले में स्थित बड़ोग रेलवे स्टेशन (Barog Railway Station) भी देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों में शुमार है. कालका-शिमला रेल रूट (Kalka-Shimla Rail Route) पर आने वाला ये छोटा-सा रेलवे स्टेशन देखने में जितना खूबसूरत है, उतना ही डरावना और भूतिया है. इस रेलवे स्टेशन (Railway Station) के ठीक बगल में एक सुरंग है, इसे बड़ोग सुरंग कहा जाता है. दरअसल, इस सुरंग का निर्माण एक ब्रिटिश इंजीनियर कर्नल बड़ोग ने कराया था. बाद में उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. कहा जाता है कि बड़ोग सुरंग में कर्नल बड़ोग की आत्मा घूमती-फिरती है.





पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पुरुलिया (Purulia) जिले में स्थित बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन (Begunkodar Railway Station) की अपनी ही कहानी है. यह देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों (Most Haunted Railway Station) में गिना जाता है. बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन (Begunkodar Railway Station) के बारे में कहा जाता है कि यहां आने वाले यात्रियों ने सफेद साड़ी पहनी एक महिला भूत को देखा है. इसके अलावा इस रेलवे स्टेशन से जुड़ी और भी कई डरावनी कहानियां (Horror Stories) हैं. स्टेशन से जुड़े इन्हीं भूतिया दावों की वजह से इसे 42 सालों तक बंद रखा गया. हालांकि, इसे साल 2009 में एक बार फिर खोल दिया गया.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta