जरा हटके

आखिर सफेद रंग का ही क्यों होता हैं आसमान में उड़ने वाला प्लेन, अनोखा है इसका वैज्ञानिक कारण

Renuka Sahu
19 Oct 2021 4:49 AM GMT
आखिर सफेद रंग का ही क्यों होता हैं आसमान में उड़ने वाला प्लेन, अनोखा है इसका वैज्ञानिक कारण
x

फाइल फोटो 

हवाई जहाज में सफर करना ज्यादातर लोगों का सपना होता है. हममे से कई लोगों ने हवाई जहाज में सफर भी किया होगा.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। हवाई जहाज (Aeroplane) में सफर करना ज्यादातर लोगों का सपना होता है. हममे से कई लोगों ने हवाई जहाज में सफर भी किया होगा. अगर सफर नहीं भी किया है तो कम से कम हवाई जहाज देखा तो जरूर ही होगा. आपने अक्सर देखा होगा कि हवाई जहाज का रंग (Aeroplane Colour) सफेद ही होता है. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि हवाई जहाज का रंग सफेद (Aeroplane Colour White) क्यों होता है? शायद आपने इस तरफ ध्यान भी नहीं दिया होगा.

सूरज की किरणों से करता है Safe
हवाई जहाज का रंग सफेद होने के पीछे का सबसे बड़ा वैज्ञानिक कारण यह है कि व्हाइट कलर प्लेन को सूरज की किरणों से बचाता है. दरअसल, सफेद रंग गर्मी का कुचालक होता है. रनवे से लेकर आसमान तक प्लेन हमेशा धूप में ही रहते हैं. चाहे रनवे पर हों या आसमान पर हमेशा सूरज की किरणें उन पर सीधी पड़ती हैं. चूंकि सूरज की इंफ्रारेड किरणें होती है, जिससे प्लेन के अंदर भयंकर गर्मी पैदा हो सकती है. ऐसे में प्लेन का रंग सफेद करके इसे गर्म होने से बचाया जाता है. सफेद रंग सूरज की किरणों को 99 परसेंट तक रिफ्लेक्ट कर देता है.
सफेद रंग में आसानी से दिखती हैं दरारें
प्लेन का रंग सफेद होने की वजह से किसी भी तरह का क्रैक या दरार आसानी से दिख जाता है. अगर प्लेन का रंग सफेद की बजाय किसी और कलर का होगा तो दरारें छिप जाएंगी. ऐसे में व्हाइट कलर प्लेन के मेंटेनेंस और निरीक्षण में मददगार होता है.
कम होता है सफेद रंग का वजन
प्लेन का रंग सफेद करने की एक और बड़ी वजह यह है कि अन्य सभी रंगों की तुलना में सफेद रंग का वजन काफी कम होता है. सफेद रंग से रंगने पर प्लेन का भार ज्यादा नहीं बढ़ता, जो आसमान में उड़ने के लिए बहुत ही जरूरी है. वहीं किसी अन्य रंग को इस्तेमाल करने पर प्लेन का वजन बढ़ सकता है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta