दिल्ली-एनसीआर

उपराष्ट्रपति पद के लिए आज से शुरू हो रही नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया, जानिए कौन-कौन दौड़ में हो सकते है शामिल?

Renuka Sahu
5 July 2022 4:27 AM GMT
The process of filing nomination papers for the post of Vice President is starting from today, know who can be involved in the race?
x

फाइल फोटो 

उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया आज से शुरू होगी. यह प्रक्रिया 19 जुलाई तक जारी रहेगी. उपराष्ट्रपति

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया आज से शुरू होगी. यह प्रक्रिया 19 जुलाई तक जारी रहेगी. उपराष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त को निर्धारित है. मालूम हो कि मौजूदा उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) का कार्यकाल 10 अगस्त को खत्म हो रहा है. चुनाव के लिए नामांकन पत्र की जांच 20 जुलाई को की जाएगी. जबकि 22 जुलाई तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. दरअसल, नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया तब शुरू होती है, जब चुनाव आयोग अधिसूचना जारी करता है और मतदाताओं से अगला उपराष्ट्रपति (Vice President of India) चुनने को कहता है.

भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को इस चुनाव में स्पष्ट रूस से बढ़त हासिल है. इस चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य वोट देने के पात्र होते हैं, जिसमें मनोनीत सदस्य भी शामिल होते हैं. राजनीतिक दलों ने चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों का ऐलान अभी तक नहीं किया है. गौरतलब है कि उपराष्ट्रपति राज्यसभा के सभापति भी होते हैं. उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए निर्वाचक मंडल में संसद के दोनों सदनों के 788 सदस्य शामिल होते हैं. निर्वाचक मंडल के सभी सदस्य, संसद के दोनों सदनों के सदस्य हैं, इसलिए हर संसद सदस्य के वोट की कीमत समान अर्थात एक होगी.
चुनाव में खुले मतदान की कोई अवधारणा नहीं
प्रोपोर्शनल रिप्रेंटेशन सिस्टम के मुताबिक, चुनाव सिंगल ट्रांसफरेबल वोट के जरिए और गुप्त मतदान के द्वारा होगा. इस सिस्टम में निर्वाचक को उम्मीदवारों के नामों के सामने वरीयताएं अंकित करनी होती है. आयोग ने कहा कि मतदाताओं से मतदान की गोपनीयता को निष्ठापूर्वक बनाए रखने की अपेक्षा की जाती है. इस चुनाव में खुले मतदान की कोई अवधारणा नहीं है और राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति के चुनाव में किसी भी परिस्थिति में किसी को भी मतपत्र दिखाना पूरी तरह से प्रतिबंधित है.
चुनाव के लिए जमानत राशि 15,000 रुपये
उम्मीदवार के नामांकन पत्र में 20 प्रस्तावकों और 20 अनुमोदकों के हस्ताक्षर होने चाहिए. एक निर्वाचक या तो प्रस्तावक या अनुमोदक के रूप में उम्मीदवार के केवल एक नामांकन पत्र पर अपना हस्ताक्षर कर सकता है. एक उम्मीदवार अधिकतम चार नामांकन पत्र दाखिल कर सकता है. चुनाव के लिए जमानत राशि 15,000 रुपये है. साल 1974 के नियमों में निर्धारित मतदान प्रक्रिया में यह प्रावधान है कि मतदान कक्ष में वोट पर निशान लगाने के बाद मतदाता को मतपत्र को मोड़कर मतपेटी में डालना होता है. मतदान प्रक्रिया के किसी भी उल्लंघन पर पीठासीन अधिकारी द्वारा मतपत्र को रद्द कर दिया जाएगा.
कौन-कौन दौड़ में हो सकता है शामिल?
कहा जा रहा है कि उपराष्ट्रपति पद के प्रमुख दावेदारों में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का नाम शामिल है. इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी और माइनॉरिटी कमीशन के चीफ इकबाल सिंह लालपुरा भी दौड़ में शामिल हैं. सुत्रों की मानें तो अनुसूचित जाति से संबंध रखने वाली तेलंगाना की राज्यपाल तमिलसाई सौन्दराजन और मणिपुर के राज्यपाल गणेशन भी उपराष्ट्रपति पद के लिए प्रमुख दावेदारों में है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta