दिल्ली-एनसीआर

महिला का शव पहले ही दूसरे पीड़ित परिजन काे दे दिया, डीएनए रिपाेर्ट से खुलासा

Admin4
23 Jun 2022 5:08 PM GMT
महिला का शव पहले ही दूसरे पीड़ित परिजन काे दे दिया, डीएनए रिपाेर्ट से खुलासा
x

नई दिल्ली:दिल्ली के मुंडका अग्निकांड के एक मृतक के शव काे दूसरे पीड़ित परिवार काे दिये जाने का मामला सामने आया है. हादसे को एक महीने से ज्यादा समय बीत जाने के बाद इसका पता चला. दरअसल संजय गांधी अस्पताल के शवगृह में मृत स्वीटी के पति मनोज कुमार ने विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है. मनोज कुमार ने बताया कि उनकी पत्नी स्वीटी मुंडका हादसे वाले गोदाम में काम करती थी.

आज डीएनए रिपोर्ट आने के बाद इस बात की जानकारी हुई कि उसकी पत्नी का शव पहले ही शिनाख्त के आधार पर किसी और को सौंप दिया गया है. उन्होंने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन काे शवों की डीएनए रिपोर्ट आने के बाद ही सौंपना चाहिए था. उन्होंने कहा कि एक महीने बाद भी वह अपने परिजन का अंतिम संस्कार नहीं कर पाए. ऐसे में स्वीटी के परिजनों ने इस मामले में विशेष जांच की मांग की है. मनोज कुमार ने कहा कि उसकी पत्नी का शव मुंडका हादसे में मृत रंजू देवी के परिवार वाले काे दे दी गयी. इस मौके पर मनाेज का रंजू देवी के परिजनाें से बहस भी हुई.

ऐसे में अब इस अग्निकांड में पुलिस प्रशासन की जांच भी कटघरे में दिखाई दे रहा है. गौरतलब है कि विगत 13 मई को मुंडका इलाके में एक सीसीटीवी के गोदाम में आग लग गई थी. इस हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई थी. आठ शवों की पहचान करके उनके परिजनों को पहले ही सौंप दिया गया था, लेकिन बाकी 19 शवों की शिनाख्त ना होने के कारण संजय गांधी मोर्चरी में सुरक्षित रखवा दिया गया था. परिजनों के डीएनए सैंपल लेकर शवों की पहचान के लिए एफएसएल भेजा गया था.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta