दिल्ली-एनसीआर

आज ही के दिन नेपाल में हुआ था 240 साल पुरानी राजशाही का अंत, जानिए 28 मई के इतिहास में और क्या हुआ था खास

Renuka Sahu
28 May 2022 2:53 AM GMT
On this day, the 240-year-old monarchy ended in Nepal, know what else happened in the history of May 28
x

फाइल फोटो 

देश और दुनिया के इतिहास में 28 मई का दिन कई कारणों से खास है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। देश और दुनिया के इतिहास में 28 मई का दिन (28 May History) कई कारणों से खास है. दरअसल नेपाल में 240 वर्षों से चली आ रही राजशाही का अंत इसी दिन हुआ था. एक दशक से भी अधिक समय तक चले गृहयुद्ध के बाद देश में शाह राजवंश के हाथों से देश की सत्ता जाती रही. इसके बाद से माओवादी देश की राजनीति की मुख्यधारा में शामिल हुए. 28 मई 2008 को ही नेपाल के वामपंथी दल को चुनाव में जीत मिली थी. तब नेपाल (Nepal) के तत्कालीन नरेश ज्ञानेंद्र को अपदस्थ कर देश को गणतंत्र घोषित कर दिया गया था. नेपाल के इतिहास के बारे में बात करें तो यहां की सत्ता गुप्त वंश, किरात वंशी, सोमवंशी, लिच्छवि और सूर्यवंशी राजाओं के हाथों में रही है.

साल 1768 में शाह वंश नारायण शाह नेपाल की पूर्वी और पश्चिमी रियासतों पर जीत हासिल कर उनपर हुकूमत करने लगे. नेपाल में अगले 80 साल तक शाह वंश ने ही शासन किया. 1846 में सेना के जनरल जंग बहादुर राणा ने तख्तापलट कर दिया था और खुद को प्रधानमंत्री घोषित कर दिया. साथ ही कहा कि राणा वंश के लोग प्रधानमंत्री बनेंगे. जबकि शाह वंश का राजा बनेगा. यही सिस्टम 100 साल तक चला. फिर 1951 में शाह वंश ने राणा वंश को प्रधानमंत्री की कुर्सी से हटा दिया. और पूरे सिस्टम पर कब्जा कर लिया. इसके बाद राजा और प्रधानमंत्री दोनों ही शाह वंश के बनने लगे थे. वहीं राणा वंश की छुट्टी हो गई थी.
देश-दुनिया के इतिहास में 28 मई का दिन और भी कई घटनाओं के लिए दर्ज है. इन घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है-
1414: खिज्र खान ने दिल्ली की सल्तनत पर कब्जा किया और सैयद वंश के शासन की नींव रखी.
1883: हिंदुत्ववादी नेता और कवि विनायक दामोदर सावरकर का जन्म.
1908: जासूसी उपन्यास जेम्स बॉन्ड के लेखक इयान फ्लेमिंग का जन्म.
1959: दो अमेरिकी बंदरों ने अंतरिक्ष की सफल यात्रा की.
1961: मानवाधिकारों के संरक्षण और दुनिया को इनके बारे में जागरूक करने के इरादे से लंदन में एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना की गई. इसे 1977 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
1967: ब्रितानी नाविक सर फ्रांसिस चिटचेस्टर 65 साल की उम्र में अकेले नाव में दुनिया का चक्कर लगाकर अपने घर पहुंचे थे.
1989: मारथाकवली डेविड भारत की पहली और विश्व की दूसरी महिला ईसाई पादरी बनीं.
1996: प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस्तीफा दिया.
1996: रूस चेचेन्या को अधिकतम स्वायत्तता देने पर सहमत हुआ.
1998: पकिस्तान ने पांच भूमिगत परमाणु परिक्षण किए.
2008: नेपाल में 240 वर्षों से चली आ रही राजशाही का अंत.

2008: अमेरिका ने पाकिस्तान परस्त आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के चार सदस्यों पर वित्तीय प्रतिबंध लगाए.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta