दिल्ली-एनसीआर

सुपरटेक ट्विंस टावर को गिराने के दौरान नोएडा एक्सप्रेसवे 25 अगस्त और 28 अगस्त को कुछ घंटो के लिए रहेगा बंद

Admin Delhi 1
18 Aug 2022 9:45 AM GMT
सुपरटेक ट्विंस टावर को गिराने के दौरान नोएडा एक्सप्रेसवे 25 अगस्त और 28 अगस्त को कुछ घंटो के लिए रहेगा बंद
x

एनसीआर नोएडा: ग्रेटर नोएडा, दिल्ली और गुरुग्राम समेत पूरे एनसीआर वालों के लिए जरूरी खबर है। आने वाले 2 दिन नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे बंद होने जा रहा है। दरअसल, नोएडा के सुपरटेक ट्विंस टावर में विस्फोटक लगाने का कार्य काफी तेजी से चल रहा है। पिछले करीब 5 दिनों से दोनों टावरों में विस्फोटक लगाया जा रहा है।

25 और 28 अगस्त को बंद रहेगा एक्सप्रेसवे: आगामी 25 अगस्त को धमाके का रिहर्सल किया जाएगा। उसके बाद 28 अगस्त को अंतिम ब्लास्ट किया जाएगा। इन दोनों दिन नोएडा और ग्रेटर नोएडा वासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। आगामी 25 अगस्त और 28 अगस्त को 6-6 घंटे के लिए नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे बंद रहेगा। इसके अलावा ब्लास्ट वाले दिन यानी कि 28 अगस्त को नोएडा एक्सप्रेसवे के करीब 15 किलोमीटर के दायरे में वाहनों का आवागमन पूर्ण रूप से प्रतिबंध होगा।

नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने किया प्लान तैयार: इसको लेकर नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने एक प्लान तैयार किया है। जिसके मुताबिक दिल्ली-नोएडा से ग्रेटर नोएडा की तरफ जाने वाले ट्रैफिक को महामाया फ्लाईओवर के पास से सेक्टर-37, शशि चौक, सिटी सेंटर, सेक्टर-71 होकर फेज-2 की तरफ निकाला जाएगा। इसी तरह से परी चौक की तरफ से आने वाले ट्रैफिक को जेपी अस्पताल से पहले लेफ्ट टर्न लेकर बांध मार्ग पर डायवर्ट किया जाएगा। मौके पर ट्रैफिक पुलिसकर्मी मौजूद होंगे।

सूर्यास्त होने तक लग रहा बारूद: दरअसल, नोएडा के सुपरटेक ट्विंस टावर में विस्फोटक लगाने का कार्य काफी तेजी से चल रहा है। पिछले करीब 5 दिनों से दोनों टावरों में विस्फोटक लगाया जा रहा है। उत्कर्ष मेहता ने जानकारी देते हुए बताया कि रोजाना सुबह करीब 6:30 बजे पलवल से गाड़ी में भरकर बारूद आ रहा है और सूर्यास्त होने तक ही बारूद टावर में लगाया जा रहा है। सूर्यास्त होने के बाद विस्फोटक पदार्थ लगाने का कार्य नहीं किया जा रहा है। शाम को 7:00 बजे पुलिस निगरानी में बचा हुआ विस्फोटक पदार्थ वापस पलवल भेजा जा रहा है। करीब14 दिनों के भीतर ट्विन्स टावर में विस्फोटक पदार्थ लगाने का लक्ष्य रखा गया है, लेकिन अगर बीच में मौसम खराब या कोई प्राकृतिक दिक्कत आती है तो आगे पीछे हो सकता है। एपेक्स टावर में 32 और सियान टावर में 29 फ्लोर हैं। जिनमें बारूद लगाया जा रहा है।

कुल 46 लोगों की टीम लगा रही बारूद: इस पूरे प्रोजेक्ट में 10 इंडियन ब्लास्टर, 6 विदेशी ब्लास्टर और 30 मजदूर कार्य कर रहे हैं। उत्कर्ष मेहता का कहना है कि अभी यह नहीं बताया जा सकता कि एक दिन में कितने छेदों में कितना बारूद लगेगा, लेकिन 3 दिनों बाद इसकी जानकारी दे सकते हैं। ट्विन्स टावर को ध्वस्त करने के लिए कुल 9,640 छेद दोनों टावर में किए गए हैं। इन सभी छेदों में बारूद लगाने का कार्य शुरू हो गया है। इस पूरे ध्वस्तीकरण के लिए 3,700 किलो विस्फोटक पदार्थ पलवल से लाया जाएगा।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta