दिल्ली-एनसीआर

मुंडका अग्निकांड: फरार इमारत मालिक की तलाश जारी

Rani Sahu
14 May 2022 6:16 PM GMT
मुंडका अग्निकांड: फरार इमारत मालिक की तलाश जारी
x
मुंडका में लगी भीषण आग की घटना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है

मुंडका में लगी भीषण आग की घटना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या के लिए सजा), 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास), 120 (कारावास के साथ दंडनीय अपराध करने के लिए डिजाइन छुपाना) और 34 (सामान्य इरादे को आगे बढ़ाने में कई व्यक्तियों द्वारा किए गए कार्य) के तहत मामला दर्ज किया गया है। यह जानकारी इलाके के डीसीपी समीर शर्मा ने दी।

उन्होंने कहा कि कंपनी के मालिक हरीश गोयल व वरण गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि इमरत के मालिक मनीष लकड़ा की तलाश की जा रही है। घटना के बाद से ही वह फरार है। इसी इमारत में रहने वाले मनीष लाकड़ा के बारे में अभी यह पता नहीं चल पाया है कि घटना के समय वह इमारत में मौजूद था या नहीं। पुलिस की टीमें उसे पकड़ने के लिए तलाशी में जुटी हैं। राहत व बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ के कमांडेंट प्रवीण तिवारी ने बताया कि मौके पर सर्च ऑपरेशन पूरा हो चुका है।
बिना एनओसी धड़ल्ले से चल रही थी कंपनी
जिस बिल्डिंग में आग लगी वहां की कंपनी बिना एनओसी के धड़ल्ले से चल रही रही थी और प्रशासन आंखें मूदकर बैठा रहा। हर बार की तरह इस बार भी हादसे के बाद सरकार को पता चला कि कंपनी की एनओसी नहीं है। बिल्डिंग से निकलने के लिए लोगों के पास कोई दूसरा रास्ता नहीं था, जिस वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। पुलिस ने कंपनी के मालिक गोयल बंधुओं पर शिकंजा कस लिया है और उनको गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ कर रही है। लेकिन सवाल ये है कि बार-बार मुंडका जैसी आगजनी के बाद भी सरकार और प्रशासन सबक क्यों नहीं लता है।
कैसे लगी थी आग
पुलिस के मुताबिक शुक्रवार शाम करीब साढे़ चार बजे आग बिल्डिंग की पहली मंजिल से आग लगनी शुरू हुई। उस समय वहां एक कार्यक्रम का आयोजन चल रहा था। कंपनी के स्टाफ मैनेजर साहिल ने बताया कि जिस वक्त आग लगी, मलिक वहीं मौजूद थे। इस चार मंजिला इमारत में कई ऑफिस और फैक्ट्रियां हैं। जब आग लगी उस वक्त इमारत में करीब 200 लोग मौजूद थे, जिनमें ज्यादातर महिलाएं थी। इमारत में आने-जाने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता था।
क्यों तेजी से भड़की आग
दिल्ली फायर सर्विसेस के डायरेक्टर अतुल गर्ग ने बताया कि बिल्डिंग में काफी सामान भरा हुआ था। साथ ही काफी ज्यादा प्लास्टिक भी था। इस वजह से आग पहली मंजिल से बढ़कर दूसरी और तीसरी मंजिल तक भी पहुंच गई। रात करीब 11 बजे तक फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पा लिया था, लेकिन करीब साढ़े 11 बजे फिर से पहली मंजिल पर आग लग गई जिसे बुझा दिया गया। रात 2 बजे तक कूलिंग प्रक्रिया चालू रही।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta