दिल्ली-एनसीआर

अजान को लेकर चल रहे विवाद के बीच अब 'अवैध मजारों' का मुद्दा उछला, सड़कों से हटाने की मांग

Renuka Sahu
1 May 2022 1:12 AM GMT
In the midst of the ongoing controversy over Ajan, now the issue of illegal shrines has arisen, demand for removal from the streets
x

फाइल फोटो 

देश में धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर को लेकर चल रहे विवाद के बीच अब विश्व हिंदू परिषद ने सड़कों पर बनी मजारों का मुद्दा उठा दिया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। देश में धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर को लेकर चल रहे विवाद के बीच अब विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने सड़कों पर बनी मजारों (Majaar) का मुद्दा उठा दिया है. VHP का कहना है कि यूपी के नोएडा में गैर कानूनी तरीके से कई मजार बना दिए गए हैं. संगठन ने इन मजारों (Majaar) को हटाने की मांग की है और ऐसा न करने पर राज्यव्यापी प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है. संगठन ने अपने कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज झूठे मामलों को भी वापस लेने की भी मांग की है.

विहिप-बजरंग दल के साथ हुई थी झड़प
विहिप (VHP) की ओर से यह यह मांग अलग-अलग समुदायों के दो नाबालिगों के बीच मारपीट के मामले के बाद सामने आई है. इस घटना में सेक्टर-39 थाने में पुलिस और विहिप-बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी. अफसरों का दावा है कि इस घटना में कम से कम 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे. इस मामले में 50 से 60 लोगों के खिलाफ दंगा करने और ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों पर हमला करने के आरोप में केस दर्ज किया गया है. साथ ही दोनों संगठनों के कई कार्यकर्ताओं को कुछ समय के लिए नोएडा सेक्टर 39 थाने की हिरासत में भी रखा गया था.
अवैध मजारों पर कार्रवाई की उठी मांग
VHP के मेरठ जोन के महासचिव राज कमल गुप्ता ने शनिवार को बयान जारी करके कहा कि पुलिस से झड़प की घटना तब हुई, जब बजरंग दल के सदस्य नोएडा की सड़कों पर अवैध रूप से बनी मजारों (Majaar) के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर नोएडा अथॉरिटी और डीएम को ज्ञापन देकर लौट रहे थे. उसी दौरान सेक्टर 39 पलिस थाने के बाहर VHP-बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर हमला करने की कोशिश की. गुप्ता ने आरोप लगाया कि थाने के बाहर सादे कपड़ों में तैनात लोगों ने कार्यकर्ताओं की पिटाई की. पुलिस ने बाद में बताया कि सादे कपड़ों में मौजूद व्यक्ति पुलिसकर्मी हैं.
'दोषी पुलिसकर्मियों को अरेस्ट करो'
राज कमल गुप्ता ने कहा, 'हमारे कार्यकर्ताओं को झूठे मामले में फंसाने की कोशिश निंदनीय है. हमारी मांग है कि उन पुलिसकर्मियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए जिन्होंने पुलिस थाने के बाहर विहिप-बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के सीने पर बंदूक तानकर हत्या करने की धमकी दी थी और कार्यकर्ताओं पर गलत आरोप लगाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. यथाशीघ्र सभी मामलों को वापस लिया जाना चाहिए.'
प्रदेश में आंदोलन की चेतावनी दी
उन्होंने कहा कि बजंरग दल कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की घटना ने नोएडा पुलिस की छवि धूमिल की है. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर इस मामले में लचर रुख अपनाया गया तो विहिप और बजरंग दल कार्यकर्ता पूरे हिंदू समाज के साथ राज्यव्यापी प्रदर्शन करने को मजबूर हो जाएंगे.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta