दिल्ली-एनसीआर

गिरफ्तार चीन की महिला नए दलाई लामा को चीन के पक्ष में करने के लिए भारत भेजी गई थी

Admin Delhi 1
22 Oct 2022 6:37 AM GMT
गिरफ्तार चीन की महिला नए दलाई लामा को चीन के पक्ष में करने के लिए भारत भेजी गई थी
x

दिल्ली क्राइम न्यूज़: जासूसी के आरोप में गिरफ्तार चीन की महिला की बड़ी चाल उजागर हुई है। चीन नए दलाई लामा को अपने पक्ष में करना चाहता है ताकि तिब्बत में उसे कोई परेशानी न हो। मंशा थी कि नया दलाई लामा ऐसा बने, जो चीन का समर्थन करे। इसके लिए चीन भारत में रहने वाले तिब्बती समुदाय के बीच अपने जासूस भेज रहा है। गिरफ्तार महिला काई रुओ को भी इसके लिए भारत भेजा गया था। यह खुलासा जासूसी के आरोप में गिरफ्तार काई रुओ ने पूछताछ में किया है। खुफिया एजेंसियां उसकी ई-बुक खंगालने में लगी हुई है। महिला ने खुलासा किया है कि भारत में इस काम में चीन के और भी लोग लगे हैं। सुरक्षा एजेंसियां इस बात का पता कर रही हैं कि महिला चीन के लिए और क्या-क्या जासूसी कर रही थी।

स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तिब्बती समुदाय के वर्तमान लामा की जगह दूसरा मिलने वाला है। काई रुओ ने पूछताछ में बताया है कि चीन चाहता है कि अगला दलाई लामा समर्थन करने वाला हो। आरोपी महिला ने बताया कि उसे तिब्बती समुदाय के लोगों को प्रभावित करना था। वह तिब्बती समुदाय के लोगों को अपनी बातों से प्रभावित कर रही थी। जो बातों में नहीं आता था तो उसे पैसे देकर अपने पक्ष में कर रही थी। वह ज्यादातर हिमाचल प्रदेश के मैक्लोडगंज में रही थी। बताया जा रहा है कि उसने हिमाचल प्रदेश में रहकर तिब्बती समुदाय के करीब 15 से 20 प्रभावशाली लोग व गुरुओं से संपर्क कर लिया था।

चीन से नेपाल के जरिये आता था पैसा: जांच में ये बात भी सामने आई है कि उसने हिमाचल में काफी लोगों को पैसे दिया है। उसे चीनी बैंक से नेपाल के जरिए पैसा भारत आता था। ये भी बताया जा रहा है कि आरोपी महिला काई रुओ के पास चीन से हवाला के जरिए भारत पैसा आ रहा था। ये सितंबर, 2022 में नेपाली से डोलमा लामा नाम से बौद्ध भिक्षु बनकर भारत आई थी। उसने सारे नेपाली फर्जी कागजात नेपाल में ही बनवाए थे।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta