दिल्ली-एनसीआर

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर लंबे इंतजार के बाद अंतिम चिपियाना रेलवे ओवरब्रिज का काम हुआ पूरा, 12 सितंबर को होगा अंतिम टेस्ट

Admin Delhi 1
6 Sep 2022 7:46 AM GMT
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर लंबे इंतजार के बाद अंतिम चिपियाना रेलवे ओवरब्रिज का काम हुआ पूरा, 12 सितंबर को होगा अंतिम टेस्ट
x

ब्रेकिंग न्यूज़: आखिरकार लंबे इंतजार के बाद दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का अंतिम चिपियाना रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी) का एनएचएआई ने निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। एनएचएआई ने इस चिपियाना आरओबी को 14 सितंबर से चालू करने के लिए तारीख भी निर्धारित कर दी हैं। इससे पहले 12 सितंबर को लोड टेस्ट होगा। आरओबी के चालू होने के बाद एक्सप्रेसवे पर यहां लगने वाले आए दिन के जाम से वाहन स्वामियों को राहत मिल जाएगी।

12 सितंबर को होगा लोड टेस्ट: दिल्ली से मेरठ और हापुड़ की तरफ जाने वाले वाहन स्वामियों को अब चिपियाना आरओबी पर जाम से नहीं जूझना पड़ेगा। एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर अरविंद सिंह ने बताया कि आरओबी पर साइड का काम सोमवार तक पूरा कर लिया गया है। उसके बाद लोड टेस्ट 12 सितंबर को किया जाएगा।


6 लेन एक्सप्रेसवे के ट्रैफिक के लिए आरक्षित:

दरअसल, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले दो चरण में दिल्ली के सराय काले खां से डासना (गाजियाबाद) तक 14 लेन की सड़क का निर्माण किया गया। इसके बीच की 6 लेन एक्सप्रेसवे के ट्रैफिक के लिए आरक्षित हैं। उसके बाद दोनों तरफ दो-दो लेन नेशनल हाइवे-9 की हैं। नेशनल हाईवे के दोनों तरफ दो-दो लेन की सर्विस रोड है।

दो पुराने आरओबी के साथ ही 3 नए बनाए गए:

एक्सप्रेसवे का निर्माण होने के बाद चिपियाना बुजुर्ग में एनएच-9 के दो पुराने आरओबी के साथ ही 3 नए आरओबी बनाए गए हैं। इनमें दो आरओबी पहले ही निर्माण पूरा कर लिया गया था, लेकिन साउथ साईड ऑफ जीटी रोड क्षेत्र की तरफ बनाए जा रहे आरओबी का काम काफी बड़ा था। इसके लिए कोंकण रेलवे की भी मदद ली गई। चिपियाना के इस अंतिम आरओबी को छोड़कर पूरा एक्सप्रेसवे बीते साल अप्रैल-2021 में ही बनकर तैयार हो गया था, लेकिन आरओबी के चलते प्रोजेक्ट कंप्लीट नहीं हो पाया था।

दिल्ली से मेरठ और हापुड़ जाने वालों को मिलेगी राहत:

वहीं, आरओबी का निर्माण न होने की वजह से दिल्ली से मेरठ और हापुड़ की तरफ जाने वाले वाहनों को हर रोज जाम से जूझना पड़ रहा है। इस आरओबी के खुलने से अब जाम से निजात मिलेगी। आरओबी खुलने के बाद टोल भी बढ़ेगा। इस संबंध में प्रस्ताव एनएचएआई की ओर से भेजा जा चुका हैं।

प्रोजेक्ट कंप्लीट होने का सर्टिफिकेट देगी एनएचएआई:

आरओबी तैयार न होने के कारण मेरठ में टोल प्लाजा पर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) 75 फीसदी टोल वसूल रही है, लेकिन आरओबी तैयार होने के बाद टोल दरों में 25 फीसदी तक बढ़ोत्तरी होगी। बताया जा रहा है कि टोल दरों को लागू करने में कुछ समय लग सकता है। एनएचएआई प्रोजेक्ट कंप्लीट होने का सर्टिफिकेट देगी। उसके बाद मंत्रालय स्तर से प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta