Top
COVID-19

कोरोना वैक्सीन पर भारत के लिए अच्छी खबर!

Admin1
23 Sep 2020 10:54 AM GMT
कोरोना वैक्सीन पर भारत के लिए अच्छी खबर!
x

फाइल फोटो 

कोरोना वायरस (Covid-19) वैक्सीन को लेकर भारत के लिए अच्छी खबर है।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Covid-19) वैक्सीन को लेकर भारत के लिए अच्छी खबर है। कुछ दिनों पहले ये खबर आई थी कि रूसी वैक्सीन 'स्पूतनिक-वी' (Sputnnik V) जल्द ही भारत में उपलब्ध होगा। देश की प्रमुख फार्मा कंपनी डॉ. रेड्ड़ीज लैब (DRL) ने कहा है कि भारत में आने वाले कुछ हफ्तों में रूसी वैक्सीन 'स्पूतनिक-वी' का ट्रायल हमारे देश में शुरू होने वाला है। फार्मा कंपनी डॉ. रेड्ड़ीज लैब ने रूस के सॉवरेन फंड रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (RDIF) के साथ करार किया है। जिसके तहत कंपनी भारत में रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पूतनिक-वी' (Sputnnik V) का क्लीनिकल ट्रायल और डिस्ट्रिब्यूशन करेगी।

डॉ. रेड्ड़ीज लैब (DRL)की एपीआई और फार्मास्युटिकल सेवाओं की सीईओ दीपक सापरा न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को यह जानकारी दी है कि उनकी कंपनी जल्द ही भारत में रूसी वैक्सीन का ट्रायल शुरू करने वाली है। दीपक सापरा ने कहा, हम क्लीनिकल ट्रायल के लिए देश भर के कई सरकारी और निजी अस्पतालों में 1,000-2,000 प्रतिभागियों का नामांकन करेंगे। जो इस ट्रायल में शामिल होंगे।

दीपक सापरा ने कहा, हम ट्रायल के पहले चरण में जाना चाहते हैं, जो कि अगले कुछ हफ्तों के भीतर भारतीय नियामकों प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद संभंव है। उसके बाद हम पहले चरण का क्लीनिकल ट्रायल शुरू करेंगे। भारत में होने वाला ट्रायल ब्रिज ट्रायल होगा, क्योंकि रूस में पहले से ही 40 हजार लोगों पर तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है।

डॉ. रेड्ड़ीज लैब (DRL) ने कहा है कि वैक्सीन की डिलिवरी 2020 के अंक में शुरू होने की संभावना दिख रही है। डॉ सापरा ने कहा है कि उन्हें लगता है प्रक्रिया में सभी चरणों को पूरा करने में कई महीने लगेंगे। रूस के सॉवरेन फंड रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (RDIF) और डॉ. रेड्ड़ीज लैब (DRL) ने 'स्पूतनिक-वी' वैक्सीन की 100 मिलियन डोज की डील की है। यानी भारत को रूस 'स्पूतनिक-वी' वैक्सीन की 100 मिलियन डोज देगा। भारत में रूसी वैक्सीन कब तक आ जाएगा, ये यल के सफलतापूर्वक पूरे होने और भारत में नियामकों के टीके का पंजीकरण करने पर निर्भर करेगा। RDIFके सीईओ किरिल दिमित्रिव का अनुमान है कि वैक्सीन यहां नवंबर तक उपलब्ध हो जाएगा क्योंकि रूस से शुरुआती नतीजे अक्टूबर में आने के आसार हैं।

रूस ने पिछले महीने 'स्पूतनिक-वी' वैक्सीन को लॉन्च कर सबको चौंका दिया है। जबकि इसके फेज 3 क्लीनिकल ट्रायल के नतीजे आने अभी बाकी हैं। पहले दो चरण के ट्रायल का सैंपल साइज भी बहुत छोटा है। इसलिए इस वैक्सीन की सफलता पर दुनियाभर में सवाल उठ रहे हैं। भारत में रूसी वैक्सीन का लॉन्च कई फैक्टरों पर निर्भर करेगा। नियामकीय प्रक्रिया में पूरी तरह जांच के बाद भी मंजूरी मिल सकती है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it